PM Modi

PM Modi Japan Visit: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 27 सितंबर को जाएंगे जापान, शिंजो आबे के राजकीय अंतिम संस्कार में लेंगे हिस्सा

PM Modi Japan Visit: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Mod) 27 सितंबर को जापान (Japan) जाएंगे। पीएम मोदी वहां जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे (Shinzo Abe) के राजकीय अंतिम संस्कार (State Funeral) कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। जापान (Japan) के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे का 8 जुलाई को निधन हो गया था।

दरअसल, जापान (Japan) के नारा शहर में उन पर एक शख्स ने पीछे से गोली चला दी थी, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। शिंजो आबे (Shinzo Abe) पर जब ये हमला हुआ तब वो एक छोटी जनसभा को संबोधित कर रहे थे। बताया गया कि गोली लगने के बाद उन्हें दिल का दौरा भी पड़ा था, जिसके चलते उनकी मौत हो गई थी।

पीएम फुमियो किशिदा से भी मिलेंगे मोदी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पीएम मोदी (PM Mod) अपनी यात्रा के दौरान शिंजो आबे (Shinzo Abe) के करीबी प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा से भी मुलाकात करेंगे। इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी (PM Mod) ने पिछले महीने आबे की हत्या पर गहरा शोक जताते हुए कहा था कि आबे ने अपना पूरा जीवन जापान और दुनिया को एक बेहतर स्थान बनाने में समर्पित कर दिया था।

पीएम मोदी ने किया था ट्वीट

पीएम मोदी (PM Mod) ने एक ट्वीट में कहा था, “मेरे प्रिय मित्रों में शुमार शिंजो आबे (Shinzo Abe) के दुखद निधन से मैं हैरान और दुखी हूं और इसे व्यक्त करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं। वह एक शीर्ष वैश्विक राजनेता, एक उत्कृष्ट नेता और एक अद्भुत प्रशासक थे।”

पीएम मोदी और शिंजो आबे की दोस्ती

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Mod) और शिंजो आबे (Shinzo Abe) की दोस्ती जगजाहिर थी। शिंजो आबे (Shinzo Abe) के निधन से पीएम मोदी (PM Mod) को काफी दुख पहुंचा था। उन्होंने इसका जिक्र अपने एक ब्लॉग में भी किया। प्रधानमंत्री ने लिखा था, “आज उनके साथ बिताया हर पल मुझे याद आ रहा है। चाहे वो क्योटो में ‘तोज़ी टेंपल’ की यात्रा हो, शिंकासेन में साथ-साथ सफर का आनंद हो, अहमदाबाद में साबरमती आश्रम जाना हो, काशी में गंगा आरती का आध्यात्मिक अवसर हो या फिर टोक्यो की ‘टी सेरेमनी’, यादगार पलों की ये लिस्ट बहुत लंबी है।”

पीएम मोदी (PM Mod) ने ब्लॉग में लिखा, “मैं उस क्षण को कभी भूल नहीं सकता, जब मुझे माउंट फूजी की तलहटी में में बसे बेहद ही खूबसूरत यामानाशी प्रीफेक्चर में उनके घर जाने का मौका मिला था। मैं इस सम्मान को सदा अपने हृदय में संजोकर रखूंगा।”