health

जानिए क्‍या है इरिटेबल बाउल सिंड्रोम

देश हेल्थ

क्या आपने पेट फूलना या गैस का अनुभव किया है। हर किसी ने कहीं न कहीं इसका अनुभव किया होगा। इससे असहजता महसूस होने के अलावा पेट में दर्द भी होता है। गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट में गैस ज्यादा भर जाने के कारण ऐसा होता है। गैस बाहर नहीं आ पाने के कारण पेट में फुलावट आती है। इससे दर्दनाक कैम्पस भी आ सकते हैं। इसे Irritable Bowel Syndrome के रूप में जाना जाता है। जो एक गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल विकार है, इसमें सूजन और कब्ज जैसे असहज लक्षण सामने आते हैं। IBS के उपचार के लिए अनगिनत तरीके हैं। आवश्यक तेलों से IBS के कारण होने वाले दर्द से निजात मिलती है। यहां कुछ ऐसे ही तेलों के बारे में बताया गया है जिनके उपयोग से IBS के दर्द को दूर किया जा सकता है।

पेपरमिंट ऑयल
अपच और IBS दर्द में इस तेल को सबसे ज्यादा रेफर किया जाता है। यह पेट के दर्द को खत्म करने के अलावा सूजन और गैस रिलीज करने में सहायक है। इससे अपच की समस्या भी खत्म होने में मदद मिलती है।


अदरक के तेल से उल्टी, अपच, गैस और सूजन में बेहतरीन मदद मिलती है। अदरक के तेल से इन सब परेशानियों से जल्दी छुटकारा मिलता है। तनाव और सिरदर्द खत्म करने में भी यह तेल काम आता है। अदरक के तेल में कुछ नींबू की बूंदें डालकर कई उपचारों में काम में लिया जा सकता है।

अजवायन का तेल
IBS से होने वाली सूजन मिटाने में यह तेल सहायक है। यह तेल सप्लीमेंट से ज्यादा तेजी से काम करता है। खुश मिजाज रहने के लिए भी अजवायन का तेल सहायक है। पेट की फुलावट कम करने, दस्त, पेट दर्द, गैस रिलीज आदि में भी अजवायन का तेल सहायक है।

सौंफ का तेल
सौंफ में दर्द सोखने की ताकत होती है, जो देरी की बजाय जल्दी दर्द ठीक करने में मददगार है। यह IBS दर्द से छुटकारा दिलाने के अलावा कब्ज, गैस और पाचन आदि समस्याओं में भी सहायक है। दस्त का इलाज करने में सौंफ काफी कारगर साबित होती है। खाने के बाद इसे हमेशा थोड़ी सी मात्रा में चबाया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *