, Sushant Singh Rajput Death Case

अगर सुशांत के पिता ने सीबीआई जांच की मांग की तो करेंगे सिफारिश- CM नीतीश

देश बिहार बॉलीवुड सिनेमा

बॉलीवुड एक्टर Sushant Singh Rajput की मौत मामले में जांच चल रही है। इस बीच, बिहार के CM नीतीश कुमार ने कहा है कि इस मामले में FIR करने वाले Sushant Singh Rajput के पिता के के सिंह अगर CBI जांच की मांग करते हैं तो केस CBI को दिया जा सकता है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ‘NVR24’ से फोन पर हुई बातचीत में कहा कि राज्य सरकार मामले को मजबूती से देख रही है। बहुत से लोगों ने CBI जांच की मांग की है। हमने कहा कि हम लोगों की इसमें क्या भूमिका है। सुशांत सिंह के पिता केके सिंह ने केस दर्ज किया है। पुलिस का काम है उसी पर जांच करना और आगे बढ़ना। इसमें बिहार का कोई रोल नहीं है। हां अगर जिन्होंने इस मामले में केस दर्ज किया है अगर वो CBI जांच की मांग करते हैं तो फिर राज्य सरकार इस पर सुझाव दे सकती है। बिहार सरकार CBI जांच की सिफारिश कर सकती है।

इस सवाल पर कि महाराष्ट्र पुलिस जांच में सहयोग नहीं कर रही है? नीतीश कुमार ने कहा कि महाराष्ट्र पुलिस को जांच में सहयोग करना चाहिए। बिहार पुलिस FIR पर जांच कर रही है। ये लीगल ड्यूटी है। उनको मदद करनी चाहिए। इसमें कोई विवाद नहीं है।

सुशांत सिंह की मौत मामले में लगातार CBI जांच की मांग की जा रही है। बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन ने Sushant Singh Rajput की मौत मामले में CBI जांच की मांग की थी। उन्होंने ट्वीट किया, ‘मेरी मांग है कि 12 करोड़ बिहार की जनता और सुशांत सिंह राजपूत के परिवार की मांग को ध्यान में रखते हुए मौत के रहस्य की CBI से जांच करवाई जाए। मेरा भी यही मानना है कि इस मामले की CBI जांच के बिना इसके रहस्य से पर्दा नहीं उठेगा।’

बिहार पुलिस मुंबई में क्या कर रहीः शिवसेना मंत्री

इस बीच, शिवसेना के मंत्री अनिल परब ने मुंबई में बिहार पुलिस की मौजूदगी पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि बहुत सी बातों के बारे में अफवाहें फैलाई जा रही हैं। हम उन लोगों को बताना चाहते हैं कि उन्हें आगे आना चाहिए और पुलिस या मुंबई पुलिस के सामने बयान देना चाहिए। मुंबई पुलिस जांच करने में सक्षम है। बिहार पुलिस को इस तरह मुंबई आने की जरूरत नहीं है।

शिवसेना के मंत्री ने कहा कि कोई भी शख्स खड़ा हो जा रहा है और CBI जांच की मांग करने लग जा रहा है। CBI जांच को लेकर कुछ नियम कायदे हैं। अगर सरकार को लगेगा कि करना चाहिए तो वो निर्णय लेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *