Satish Punia on sachin pilot

सतीश पुनिया का सनसनी खेज बयान पायलट बन सकते है सीएम

देश राजनीति राजस्थान

जयपुर- राजस्थान में सियासी संग्राम के बीच BJP अध्यक्ष सतीश पुनिया का बयान काफी चर्चा में है। राजस्थान BJP के अध्यक्ष सतीश पूनिया का कहना है कि यदि राजस्थान में परिस्थितियां बनती हैं तो Sachin Pilot भी मुख्यमंत्री बन सकते हैं। उन्होंने पायलट को राष्ट्रीय नेता बताते हुए कहा कि कांग्रेस को BJP पर आरोप लगाने के बजाए अपना घर संभालना चाहिए। पूनिया ने कहा कि Sachin Pilot पिछले डेढ़ वर्ष से प्रदेश के उप मुख्यमंत्री थे। वह पिछले 6 वर्ष से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भी थे। ऐसे में BJP पर उन्हें संरक्षण देने का आरोप क्यों लगाया जा रहा है।

वास्तव में मुख्यमंत्री Ashok Gahlot खुद अपनी पार्टी के गुजरात और मध्यप्रदेश के विधायकों को संरक्षण दे रहे थे, जो यहां आकर होटलों में रूके हुए थे। अब पायलट के पास दूसरे राज्यों में समर्थक क्यों नहीं हो सकते। वह राष्ट्रीय स्तर के नेता हैं, जिनके पास लोगों का अच्छा समर्थन है। पूनिया ने कहा कि परिस्थितियां बनती हैं तो Sachin Pilot मुख्यमंत्री बन सकते हैं।


उन्होंने कोई लक्ष्य रखकर इतना बड़ा कदम उठाया है। हालांकि अभी मामला अदालत में है और अभी इस बारे में कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी। पहले उन्हें तय करना है कि उन्हें क्या कदम उठना है। उसके बाद ही हम अपना निर्णय करेंगे, लेकिन यह स्पष्ट है कि गहलोत सरकार गिरने की स्थिति में आ गई है।

पूनिया ने कहा कि हमारी पार्टी सभी स्थितियों पर नजर बनाए हुए है, क्योंकि कांग्रेस के बाद हमारी सबसे ज्यादा सीटें हैं। पूनिया ने कहा कि यदि सरकार के पास बहुमत होता तो वह विधायकों को एक साह से होटल में नहीं लेकर बैठी होती। पहले उन्होंने 109 विधायक होने का दावा किया था, जबकि 19 विधायक हरियाणा में थे। इन्हें राज्यसभा चुनाव में 125 विधायकों का समर्थन प्राप्त था, जबकि 19 बागी हो गए हैं और 3 निर्दलीय भी समर्थन नहीं दे रहे हैं।

राजस्थान में गहमागहमी संकट के बीच राजस्थान हाइकोर्ट से कांग्रेस के बागी नेता सचिन पायलट को राहत मिली है। पायलट खेमे की याचिका को सही मानते हुए हाइकोर्ट ने विधानसभा अध्यक्ष(स्पीकर) की ओर से जारी नोटिस को खारिज कर दिया है। इसका मतलब ये हुआ कि अब विधानसभा स्पीकर पायलट और 18 अन्य बागी विधायकों को अयोग्य करार नहीं दे पाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *