Russia tries to import COVID-19 drugs

रूस में कोविड से नहीं थम रहीं मौतें,दूसरे देशों से कोविड की दवाओं को लाने में जुटी सरकार

देश

कोरोना महामारी के बीच रूस में घरेलू दवाओं की उत्पादों में कमी आई है। Corona महामारी से लड़ने के लिए रूस अब विदेशों से कोरोना से जुड़ी दवाओं का आयात करने की कीशिश में है। यह जानकारी रूस के स्वास्थ्य मंत्री मिखाइल मुराशको ने मंगलवार को दी है। इसके साथ ही स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि आज यानी मंगलवार को Corona से 969 लोगों की मौत हुई है जो कि एक रिकॉर्ड स्तर पर दर्ज की गईं मौतें हैं। इसलिए सरकार अब Corona से जुड़ी दवाएं दूसरे देशों से आयात करने की योजना बना रही है।

रूस Coronavirus के कई टीके और इसके इलाज के लिए घरेलू रूप से कुछ दवाओं का उत्पादन करता है, जिसमें कोरोनाविर (Coronavir) और अविफाविर (Avifavir) शामिल हैं। ये दोनों दवाईयां फेविपिरवीर पर आधारित हैं। जिसे जापान में विकसित किया गया था और Corona के इलाज के लिए इसे व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है।


मंगलवार को वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों के साथ एक बैठक के दौरान स्वास्थ्य मंत्री मुराशको ने कहा कि कुछ क्षेत्रों में फेविपिरवीर की आपूर्ति में समस्या आ रही है। उन्होंने कहा कि एंटी क्लॉटिंग एजेंटों की आपूर्ति मात्रा बढ़ी है। लेकिन अभी भी देश में नेटवर्क की कमी बनी हुई है और इसलिए हम विदेश से दवाओं की अतिरिक्त डिलीवरी मंगाने के लिए व्यापार और उद्योग मंत्रालय के साथ काम कर रहे हैं।


इस दौरान उन्होंने कहा कि देश में Corona की स्थिति धीरे-धीरे कम हो रही है। मंगलवार को 26,402 नए मामले सामने आए हैं जो कि 27 नवंबर को रिकॉर्ड स्तर पर नए मामले पहुंच गए थे।

लॉकडाउन लगाने का विरोध

हालांकि प्रधान मंत्री मिखाइल मिशुस्तिन ने कहा कि रूस के 80 से अधिक क्षेत्रों में Corona के कारण स्थिति काफी तनावपूर्ण बनी हुई है। वहीं, रूस ने वायरस की दूसरी लहर के दौरान Lockdown लगाने का विरोध किया है।

गौरतलब है कि 2,322,056 कोरोना के कुल संक्रमणों के साथ रूस दुनिया में चौथे स्थान पर बना हुआ है। पहले नंबर पर अमेरिका, भारत और ब्राजील और उसके बाद रूस है। Corona महामारी की शुरुआत से अब तक Corona से संबंधित 40,646 मौतें दर्ज की गई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *