Commodity

2020 में कितना ऊपर जाएगा सोना! जानें क्या कहते हैं विश्लेषक

कारोबार देश

मुंबई- वैश्विक बाजार में Gold 1981 डॉलर प्रति औंस के ऊपर चला गया है और 2000 डॉलर प्रति औंस के काफी करीब है। Corona संकट काल में बहुमूल्य धातुओं के प्रति निवेशकों का रुझान बना हुआ है जिससे इस मनोवैज्ञानिक स्तर के टूटने की संभावना बनी हुई है। हालांकि बाजार विश्लेषक बताते हैं कि 2020 में Gold 2020 डॉलर प्रति औंस के स्तर को तोड़ इतिहास रच सकता है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में आई तेजी से उत्साहित सोना घरेलू बाजार में भी लगातार नया रेकॉर्ड बना रहा है और चांदी के दाम में भी जबरदस्त उछाल आई है।


देश के सबसे बड़े वायदा बाजार मल्टी कमोडिटी पर सुबह 10.18 बजे चांदी के सितंबर अनुबंध में पिछले सत्र से 919 रुपये यानी 1.40 फीसदी की तेजी के साथ 66,447 रुपये प्रति किलो पर कारोबार चल रहा था जबकि इससे पहले चांदी का भाव MCX पर कारोबार के दौरान 67,560 रुपये प्रति किलो तक उछला। Corona काल में 18 मार्च को चांदी का भाव MCX पर 33,580 रुपये प्रति किलो तक टूटा था जिसके बाद कीमतों में तकरीबन दोगुनी से ज्यादा की उछाल आई है।

क्या कहते हैं विश्लेषक
जेम एंड ज्वेलरी ट्रेड काउंसिल ऑफ इंडिया के प्रेसीडेंट शांतिभाई पटेल ने बताया कि इस बार चांदी में आई तेजी से इसकी जेवराती मांग जबरदस्त बनी रह सकती है, इसलिए पिछले रेकॉर्ड स्तर को चांदी छू सकती है। उन्होंने बताया कि ऊंचे भाव पर भी सोने की मांग बनी हुई है क्योंकि सोना मुसीबत की घड़ी में काम आता है। बता दें कि चांदी का भाव MCX पर 25 अप्रैल 2011 को रेकॉर्ड 73,600 रुपये प्रति किलो तक उछला था जबकि हाजिर बाजार में चांदी का भाव 2011 में 77,000 रुपये प्रति किलो तक उछला था।

चांदी की कीमतों में आग, 4 महीने में दोगुना रेट

उन्होंने कहा कि MCX पर सोने के अगस्त वायदा अनुबंध में पिछले सत्र की क्लोजिंग से 185 रुपये यानी 0.36 फीसदी की तेजी के साथ 52,286 रुपये प्रति 10 ग्राम पर कारोबार चल रहा था जबकि इससे पहले सोने का भाव 52,435 रुपये प्रति 10 ग्राम तक उछला जोकि अब तक का रेकॉर्ड स्तर है। सोने का भाव 16 मार्च 2020 को 38,400 रुपये प्रति 10 ग्राम था जिसके बाद सोने में 36.54 फीसदी की तेजी आई है।

दिवाली तक कितना रहेगा भाव
एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसीडेंट अनुज गुप्ता कहते हैं कि अमेरिकी करेंसी डॉलर में कमजोरी को देखते हुए सोना वैश्विक बाजार में 2000 डॉलर प्रति औंस के मनोवैज्ञानिक स्तर को तोड़कर इतिहास रच सकता है। गुप्ता के मुताबिक दिवाली तक MCX पर सोना 54,500 रुपये प्रति 10 ग्राम के करीब रह सकता है। निवेश के सुरक्षित साधन के तौर पर सोने के प्रति निवेशकों का रुझान बना हुआ है जिसके चलते सोना वैश्विक बाजार में लगातार नया रेकॉर्ड बना हुआ है और चांदी में भी लगातार तेजी का रुख बना हुंआ है। बाजार विश्लेषक बताते हैं कि कोरोनावायरस संक्रमण के बढ़ते प्रकोप के चलते चांदी की खनन बाधित होने और दुनिया के विभिन्न देशों में औद्योगिक गतिविधियां पटरी पर लौटने से चांदी की औद्योगिक मांग बढ़ने की उम्मीदों से इसकी कीमतों में लगातार तेजी का रुख बना हुआ है।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में चांदी की कीमत 18 मार्च को 12 डॉलर प्रति औंस से भी नीचे गिर गई थी जबकि मंगलवार को चांदी कॉमेक्स पर 26 डॉलर प्रति औंस से उपर तक उछली। अंतर्राष्ट्रीय वायदा बाजार कॉमेक्स पर Gold के अगस्त वायदा अनुबंध में मंगलवार को पिछले सत्र से 5.10 डॉलर यानी 0.26 फीसदी की तेजी के साथ 1936.10 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार चल रहा था जबकि इससे पहले सोने का भाव 1974.40 डॉलर प्रति औंस तक उछला जोकि कॉमेक्स पर सोने के वायदा भाव का एक नया रेकॉर्ड है। वहीं, सोने का हाजिर भाव वैश्विक बाजार में 1981.13 डॉलर प्रति औंस तक उछला जोकि एक नया रिकॉर्ड है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *