बिहार का रण: चुनाव की संभावना बढ़ी, अधिकारीयों का प्रशिक्षण शुरू, पटना में बढ़ाई गई मतदान केंद्रों की संख्या

Corona Updates elections NEWS Top News बिहार

पटना जिला में इस बार 7034 मतदान केंद्रों पर वोट डाले जायेंगे। लोकसभा चुनाव के दौरान पटना जिले के 14 विधानसभा क्षेत्रों में 4620 मतदान केंद्रों पर वोट डाले गये थे। लेकिन, विधानसभा चुनाव के लिए प्रत्येक मतदान केंद्र पर 1000 मतदाताओं की सीमा निर्धारित होने की वजह से बनाये गये सहायक मतदान केंद्र की वजह से इनकी संख्या बढ़ गयी है। 2414 नये सहायक मतदान केंद्र बनाये गये हैं। खास बात यह है कि यह सहायक मतदान केंद्र भी मुख्य मतदान केंद्र परिसर में ही बनाये गये हैं और नंबर भी समान है। केवल सहायक मतदान केंद्र में क, ख आदि जुड़ गया है।

इन मतदान केंद्रों पर अलग से पीठासीन अधिकारी व अन्य कर्मियों की तैनाती की जायेगी। इसके साथ ही EVM व VVPAT भी अलग होंगे। नये सहायक बूथ के लिए 2414 इवीएम व वीवीपैट की इस बार अधिक आवश्यकता होगी। दीघा विधानसभा में सबसे ज्यादा मतदान केंद्र 711 होंगे। इस विधानसभा में पूर्व से मतदान केंद्रों की संख्या अधिक थी। लेकिन सबसे अधिक वैसे मतदान केंद्र भी थे, जिन पर एक हजार से अधिक वोटर थे। इसके कारण यहां पटना जिले का सबसे अधिक 303 सहायक मतदान केंद्र बनाये गये हैं।

मसौढ़ी में भी पहले से 382 मतदान केंद्र थे, लेकिन यहां अधिकतर मतदान केंद्रों पर एक हजार से कम वोटर थे। केवल 129 मतदान केद्रों पर एक हजार से अधिक वोटर थे। मतदान केंद्र पर बिना मास्क पहने जाने पर वोट नहीं देने दिया जायेगा। इसके साथ ही सोशल डिस्टैंसिंग के नियमों का पालन भी करना होगा। इसके लिए मजिस्ट्रेट व पुलिस पदाधिकारी की अलग से तैनाती होगी। यह मास्क व सोशल डिस्टैंसिंग के नियमों का पालन करायेंगे।

बिहार विधानसभा आम चुनाव को लेकर भारत निर्वाचन आयोग ने सोमवार को बिहार के सभी जिलों के जिलाधिकारियों व आरक्षी अधीक्षकों के साथ रिटर्निंग ऑफिसरों को चुनाव संबंधी प्रशिक्षण दिया। प्रशिक्षण में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एचआर श्रीनिवास सहित CEO कार्यालय के वरीय पदाधिकारी भी उपस्थित थे। उपमुख्य निर्वाचन पदाधिकारी बैजूनाथ कुमार सिंह ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग की ओर से उपचुनाव आयुक्त चंद्रभूषण कुमार और सुदीप जैन ने प्रशिक्षण प्रशिक्षण दिया।

प्रशिक्षण के दौरान बिहार के पदाधिकारियों को बताया गया कि कोरोना को देखते हुए नयी इवीएम का इस्तेमाल कैसे करना है। प्रत्याशियों के नामांकन में किन बातों का ध्यान रखा जाना है। मतदाता सूची की तैयारी और बूथों के गठन पर किन बातों का ध्यान रखा जाना है। आयोग द्वारा विधानसभा चुनाव में खासकर एप को लेकर विशेष प्रशिक्षण दिया गया। बताया गया कि चुनाव को लेकर आयोग द्वारा कई एप तैयार किये गये हैं, जिनकी भूमिका चुनाव में अहम हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *