बिहार का रण: राजनीतिक दलों के सुझाव पर निर्भर होगा विधानसभा चुनाव

Corona Updates elections देश बिहार

बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर देश के मान्यता प्राप्त 7 राष्ट्रीय व 43 प्रादेशिक राजनीतिक दलों की राय अहम हो गयी है। 31 जुलाई तक इन सभी दलों के सुझाव पर ही भारत निर्वाचन आयोग (ELECTION COMMISSION) को बिहार में चुनाव कराने का निर्णय लेना है। भारत निर्वाचन आयोग ने शुक्रवार को देश के सभी राष्ट्रीय व प्रदेश स्तरीय मान्यता प्राप्त दलों से बिहार चुनाव को लेकर सुझाव मांगा है। आयोग ने को COVID 19 महामारी में कैसे चुनाव काराया जाये इसको लेकर सभी दलों का सुझाव मांगा है। आयोग ने स्पष्ट किया है कि चुनावी प्रक्रिया में आपदा प्रबंधन विभाग और राज्य सरकारों द्वारा गाइडलाइन तैयार की गयी है।

बिहार विधानसभा चुनाव में 243 विधानसभा क्षेत्र के प्रत्याशियों को ऑनलाइन (ONLINE) नामांकनपत्र दाखिल करने का मौका मिल सकता है। भारत निर्वाचन आयोग ने इस दिशा में पहल की है. बिहार विधानसभा आम चुनाव को ध्यान में रखते हुए आयोग ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को ऑनलाइन नामांकनपत्र दाखिल करने को लेकर पत्र भेजा है। मुख्य निर्वाचन आधिकारी को निर्देश दिया गया है कि प्रत्याशियों के ऑनलाइन नामांकन को लेकर सोमवार को आयोग द्वारा मॉक ट्रॉयल का प्रशिक्षण राज्य के पदाधिकारियों को दिया जायेगा।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को आयोग ने कहा – मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को आयोग ने कहा है कि बिहार विधानसभा चुनाव के लिए प्रत्याशियों के ऑनलाइन नामांकन का मॉक ट्रायल की अनुमति दी गयी है। इसमें प्रत्याशी अपना पूरा नामांकनपत्र ऑनलाइन जमा करेंगे। इसके लिए हर प्रत्याशी भारत निर्वाचन आयोग की आधिकारिक वेबसाइट के सुविधा पोर्टल पर खुद रिजस्टर करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *