Stanford University researchers

बड़ा खुलासा: ट्रंप के रैलियों में शामिल 30 हजार से ज्‍यादा लोग कोविड संक्रमित, 700 लोगों की मौत

विदेश

स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने एक नए अध्ययन के बाद अमेरिका में सियासत तेज हो गई है। इस अध्‍ययन में दावा किया गया है कि राष्‍ट्रपति Donald Trump की 18 चुनावी रैलियों में 30 हजार लोगों Coronavirus से संक्रमित हुए हैं। अध्‍ययन में कहा गया है कि करीब 700 लोगों की मौत हुई है। अध्ययन पर एक ट्विटर पोस्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए डेमोक्रेटिक राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बिडेन ने कहा कि राष्ट्रपति TRUMP को आपकी परवाह नहीं है। वह अपने समर्थकों की भी परवाह नहीं करते हैं।

इस अध्‍ययन में कहा गया है कि राष्‍ट्रपति TRUMP की रैलियों में समर्थकों को भारी कीमत चुकानी पड़ी। ‘द इफेक्ट्स ऑफ द लार्ज ग्रुप मीटिंग्स ऑफ द स्प्रेड ऑफ Covid ​​-19 : द केस ऑफ ट्रंप रैली’ नामक शीर्षक अध्‍ययन में शोधकर्ताओं ने 20 जून से 22 सितंबर के बीच हुई ट्रंप की 18 चुनावी रैलियों पर शोध किया है। इस अध्‍ययन में पाया गया है कि इस दौरान रैली में शामिल 30 हजार लोग Coronavirus से संकमित पाए गए। इस भीड़ में शामिल और Coronavirus संक्रमित 700 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

इस शोध में कहा गया है कि राष्‍ट्रपति TRUMP की चुनावी रैलियों में सार्वजनिक स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारियों की चेतावनी और उनकी सिफारिशों की लगातार अनदेखी की गई। TRUMP की चुनावी सभा में शारीरिक दूरी के नियमों का पालन नहीं किया गया। रैली में शामिल लोगों ने अपने चेहरे पर मास्‍क का उपयोग नहीं किया। अध्ययन में शोधकर्ताओं ने कहा कि राष्‍ट्रपति की रैलियों में कोरोना वायरस संक्रमण और मृत्‍यु के मामले बड़ी तेजी से बढ़े। शुक्रवार को जारी किए गए आकंड़ों में अमेरिका मे अब तक 91 लाख से अधिक लोग Coronavirus से संक्रमित हैं, जबकि अब तक 2.30 लाख लोगों ने अपनी जान गवांई है।

शोधकर्ताओं ने कहा कि अध्ययन का उद्देश्य 20 जून से 30 सितंबर के बीच ट्रंप के चुनावी रैलियों पर Coronavirus के इफेक्‍ट का अध्ययन करना था। इसके साथ इस तथ्‍य को भी उजागर करना था कि न‍ियमों की अनदेखी का Coronavirus के प्रसार पर क्‍या प्रभाव पड़ा है। इस मामले को प्रकाश में लाना था। रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) ने मास्‍क पहनने और शारीरिक दूरी के नियमों के पालन की सलाह दी है। CDC का कहना है कि नियमों का पालन नहीं करने पर Coronavirus के प्रसार का खतरा बढ़ जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *