कोरोना के चलते बदल गया क्रिकेट कवरेज का अंदाज

नई दिल्ली- लगभग 100 दिनों के बाद इंटरनैशनल Cricket की वापसी होने जा रही है। अगले महीने इंग्लैंड 2 टीमों की मेजबानी करेगा। पहले 8 जुलाई से वेस्टइंडीज के साथ 3 टेस्ट मैचों की सीरीज शुरू होगी। उसके बाद पाकिस्तान को इंग्लैंड से उसकी धरती पर भिड़ना है। जाहिर है लंबे अर्से बाद होने वाले इंटरनैशनल Cricket में किसी ऐक्शन पर दुनिया भर की निगाहें होंगी।

लोग पल-पल की जानकारी चाहेंगे। आमतौर पर इंग्लैंड में किसी बड़ी सीरीज को कवर करने के लिए काफी तादाद में Cricket रिपोर्टर इकट्ठे होते हैं। हालांकि, Corona के दौर में शुरू हो रही अगली दो सीरीज में ऐसा कुछ नहीं होगा। इंग्लैंड में हो रही दोनों सीरीज के लिए इंग्लैंड के केवल 12 मीडियाकर्मी ही स्टेडियमों में मौजूद होंगे। इंग्लैंड ऐंड वेल्स Cricket बोर्ड के टीम कॉम्युनिकेशन के हेड डैनी रूबेन ने एक टीवी चैनल को बताया कि ये सभी जर्नलिस्ट स्थानीय हैं।
डैनी के अनुसार जिन 12 मीडियाकर्मियों को स्टेडियम्स में एंट्री दी जाएगी उनको हरेक टेस्ट के पहले ईसीबी के कोविड-19 टेस्ट से गुजरना होगा। रिपोर्ट नेगेटिव आने की स्थिति में ही उन्हें एंट्री मिलेगी। खास बात यह है कि मैच कवर कर रहे सभी पत्रकारों को PPE किट में आना होगा।


यही नहीं, उन्हें प्रेस बॉक्स के बजाय अलग-अलग कॉर्पोरेट बॉक्सेज में जगह दी जाएगी। चूंकि, सारे मैच बगैर दर्शकों के खाली स्टेडियम में खेले जाएंगे इसलिए ईसीबी को हरेक मीडियाकर्मी के लिए अलग-अलग 12 बॉक्स देने में कोई परेशानी नहीं है। ब्रिटेन के आठ चुनिंदा राष्ट्रीय अखबारों के अलावा, प्रेस असोसिएशन, एएफपी, क्रिकइंफो और इवनिंग स्टैंडर्ड को मैच कवर करने की अनुमति दी गई है। टीवी चैनल्स के लिए कॉमेंट्री करने वाले और टेक्नीकल टीम के लोगों को भी सख्त एसओपी का पालन करना होगा।

इधर, पाकिस्तान के कुछ पत्रकारों ने सीरीज को कवर करने के लिए अधिकारियों से जानकारी मांगी थी लेकिन ब्रिटिश सरकार ने इंटरनैशनल ट्रेवल पर रोक लगा रखी है। ऐसे में उनका वहां जाना संभव नहीं था। हालांकि, पाकिस्तान के ज्यादातर खेल पत्रकार इस दौरे पर जाने का जोखिम नहीं उठाना चाहते।

पाकिस्तान के जाने माने Cricket रिपोर्टर अब्दुल माजिद भट्टी ने बताया कि आमतौर पर इंग्लैंड और पाकिस्तान की सीरीज के लिए कम से कम 20 पाकिस्तानी पत्रकार जरूर जाते हैं। हालांकि, इस बार ज्यादातर को पता था कि जो हालात हैं उनमें वहां जाना मुश्किल नहीं होगा। भट्टी ने कहा,’मैं इंग्लैंड के दौरे पर जाना पसंद करता हूं। पाकिस्तान की पिछली कई सीरीज से मैं लगातार वहां जाता रहा हूं। इस बार हम लाइव ऐक्शन मिस करेंगे।

उन्होंने कहा, ‘जिस दौर से हम गुजर रहे हैं उसमें वहां जाना रिस्क था। खिलाड़ियों के लिए तो ‘जैव सुरक्षित माहौल’ होगा। हमें अपना ख्याल रखना होगा। अगर ईसीबी ने मीडिया के लिए कुछ सुविधाएं मुहैया कराई होतीं तो कुछ लोग जा सकते थे। हालांकि, पाकिस्तान के साथ-साथ इंग्लैंड में जो हालात हैं उसमें वहां जाना सही फैसला नहीं होगा।’

पाकिस्तान Cricket बोर्ड ने बताया कि टीम पहले से तय कार्यक्रम के अनुसार रविवार को ही चार्टर्ड प्लेन से इंग्लैंड के लिए रवाना होगी। पहले जिन 10 खिलाड़ियों की Covid-19 रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी, उनमें से 7 की रिपोर्ट शनिवार को नेगेटिव आई। टीम 20 खिलाड़ियों और 11 सपोर्ट स्टाफ के साथ इंग्लैंड के लिए रवाना होगी। टीम पहले मैनचेस्टर जाएगी। पीसीबी के अनुसार रिजर्व पेस बोलर मूसा खान और विकेटकीपर रोहेल नजीर जांच में नेगेटिव आए हैं। वे भी टीम के साथ रवाना होंगे। जिन 10 खिलाड़ियों की रिपोर्ट पहले पॉजिटिव आईं थीं, उन्हें लगातार 2 नेगेटिव नतीजे के बाद ही इंग्लैंड भेजा जाएगा।