congress leader hardik patel

Hardik Patel: हार्दिक पटेल ने क्‍यों छोड़ा कांग्रेस का हाथ,जानें AAP या BJP किसका थामेंगे दामन

Hardik Patel: गुजरात में पाटीदार समुदाय से आने वाले हार्दिक पटेल के कांग्रेस से इस्‍तीफा (Hardik Patel resigned from Congress) देने के बाद उनके भाजपा (BJP) या फिर आम आदमी पार्टी (AAP) में जाने की आशंका जताई जा रही है। इसकी एक बड़ी वजह उनका सोनिया गांधी को लिखा वो खत है जिसमें उन्‍होंने पार्टी नेताओं पर कई आरोप लगाए हैं। उन्‍होंने पार्टी की नीतियों पर भी सवाल उठाए हैं। साथ ही उन्‍होंने भाजपा (BJP) द्वारा किए गए कार्यों में बाधा डालने का भी आरोप लगाया है।
AAP या भाजपा

भाजपा (BJP) की ही बात करें तो गुजरात में वो सत्‍ता में है और पार्टी के पास पहले से ही कई बड़े नेता भी हैं। पाटीदार समूह के प्रतिनिधि के तौर पर भी गुजरात भाजपा (BJP) में कई बड़े चेहरे पहले से ही जुड़े हुए हैं। बता दें कि गुजरात में पार्टी समूह बेहद खास माना जाता रहा है। इस लिहाज से भाजपा (BJP) में शामिल होना हार्दिक के लिए कुछ मुश्किल भरा जरूर हो सकता है। वहीं यदि आम आदमी पार्टी की बात करें तो उसको अपनी जमीन तैयार करने के लिए वहां पर एक बड़े चेहरे की तलाश जरूर की जा रही है। इस पार्टी ने गुजरात विधानसभा के लिए अपनी तैयारी भी शुरू कर दी है। ऐसे में आम आदमी पार्टी हार्दिक पटेल के लिए एक जरिया बन सकती है।


गुजरात में पाटीदार समुदाय से आने वाले और कांग्रेस का बड़ा चेहरा माने जाने वाले हार्दिक पटेल ने पार्टी से इस्‍तीफा दे दिया है। उनके इस्‍तीफे से कांग्रेस को एक बड़ा झटका भी लगा है। उनका ये इस्‍तीफा ऐसे समय में हुआ है जब गुजरात में विधानसभा चुनाव होने हैं। भाजपा (BJP) समेत आम आदमी पार्टी (AAP) ने भी इसकी तैयारियां शुरू कर दी हैं। वहीं, हार्दिक के इस कदम के बाद पार्टी को इस कमी को पूरा करने के लिए नया चेहरा तलाशना होगा। आगामी चुनाव को देखते हुए पार्टी के पास समय भी कम बचा है। बता दें कि गुजरात विधानसभा चुनाव इसी वर्ष दिसंबर में हो सकते हैं। फरवरी 2023 में वहां की विधानसभा का कार्यकाल पूरा हो रहा है।


हार्दिक ने किया ट्वीट

इस बाबत उन्‍होंने एक ट्वीट किया है जिसमें उन्‍होंने कहा है कि वो आज हिम्‍मत जुटा कर पार्टी के पद और इसकी प्राथमिक सदस्‍यता से इस्‍तीफा दे रहे हैं। उन्‍होंने इसबात की भी उम्‍मीद जताई है कि गुजरात की जनता और उनका साथी इस फैसले का स्‍वागत करेगा। उन्‍होंने ये भी कहा है कि वो आने वाले समय में गुजरात के लिए वास्‍तव में सकारात्मक रूप से कार्य कर पाएंगे। अपने एक पत्र में उन्‍होंने इस्‍तीफे की सबसे बड़ी वजह पार्टी का गलत तरह से काम करना बताया है। उन्‍होंने पार्टी अध्‍यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को लिखे एक पत्र में कहा है कि उनकी कई कोशिशों के बावजूद पार्टी देश हित और समाज हित के विपरीत काम कर रही है।


केंद्र का विरोध करने तक सीमित है कांग्रेस की राजनीति

अपने खत में उन्‍होंने लिखा है कि देश के युवा एक मजबूत नेतृत्‍व चाहता है। लेकिन बीते तीन वर्षों में पार्टी केवल विरोध की ही राजनीति कर रही है, जो कि गलत है। उन्‍होंने कहा है कि देशवासियों को विरोध की राजनीति नहीं बल्कि एक विकल्‍प की दरकार है जो देश को आगे ले जाने की क्षमता रखता हो। उन्‍होंने केंद्र की भाजपा सरकार के समर्थन में भी काफी कुछ इस पत्र में कहा है।

कई मुद्दो पर अटकाए रोड़े

उन्‍होंने लिखा है कि देशी लंबे समय से अयोध्‍या, एनआरसी सीएए (NRC-CAA) और जम्‍मू कश्‍मीर में अनुच्छेद 370 को हटाने समेत जीएसटी लागू करने जैसे अहम मुद्दों का समाधान चाहता था। लेकिन कांग्रेस ने इनको सुलझाने की बजाए हमेशा इसमें रोड़े अटकाने का ही काम किया है। कांग्रेस पार्टी केवल केंद्र का विरोध करने तक ही सीमित रही है। यही वजह है कि पार्टी को हर राज्‍य से मतदाता खारिज कर रहा है। इसकी एक बड़ी वजह है कि पार्टी का शीर्ष नेतृत्‍व एक बेसिक रोड़मैप तक सामने रख पाने में नाकाम साबित हुआ है।
गुजरात को लेकर संजीदा नहीं पार्टी

अपने खत में हार्दिक पटेल (Hardik Patel) ने पार्टी पर आरोप लगाया है कि वो कभी भी किसी भी बड़े मुद्दे पर संजीदा नहीं रही है। गुजरात के लोगों और उनकी समस्‍याओं पर ध्‍यान देने की पार्टी ने कभी कोशिश भी नहीं की। हर बार संकट के समय में पार्टी के बड़े नेता विदेश में रहे। गुजरात और यहां की जनता की हमेशा अवहेलना की गई।
पार्टी नेताओं मुद्दों की नहीं रहती है खाने की चिंता

उन्‍होंने शीर्ष नेतृत्‍व पर सवाल उठाते हुए कहा है गुजरात का दौरा करने वाले नेताओं को यहां की समस्‍या से कोई लेना देना नहीं होता था। वो केवल अपने खाने की चिंता करते थे कि वो समय पर है या नहीं। गुजरात की आम जनता से ये बातें छिपी नहीं रही हैं। उन्‍होंने लिखा है कि कई बार कार्यकर्ताओं ने इस बारे में उनसे सवाल किए हैं।यही वजह हे कि गुजरात के लोग कांग्रेस से खुद को ठगा हुआ महसूस करते हैं।
बिके हुए हैं पार्टी नेता

हार्दिक ने पार्टी के बड़े नेताओं पर भी सवाल उठाया है। उन्‍होंने आरोप लगाया है कि बड़े नेताओं ने जानबूझकर यहां के मुद्दों को कमजोर किया है। उन्‍होंने आरोप लगाया है कि ये नेता बिके हुए हैं और ऐसा करके आर्थिक फायदा उठा रहे हैं। ये जनता के साथ धोखा है। कांग्रेस पार्टी गुजरात और यहां के लोगों के लिए कुछ नहीं करना चाहती है। उन्‍होंने यहां तक कहा है कि कई बार उनका भी तिरस्‍कार किया गया है। इसलिए अब वो पार्टी के लिए कुछ नहीं करना चाहते हैं।

India beat new Zealand 3-0. भारत ने किया कीवियों का सूपड़ा साफ, बने नम्बर 1 Kisi Ka Bhai Kisi Ki Jaan | शाहरुख की पठान के साथ सलमान के टीजर की टक्कर, पोस्टर रिवील 200करोड़ की ठगी के आरोपी सुकेश ने जैकलीन के बाद नूरा फतेही को बताया गर्लफ्रैंड, दिए महँगे गिफ्ट #noorafatehi #jaqlein #sukesh क्या कीवी का होगा सूपड़ा साफ? Team India for third ODI against New Zealand #indiancricketteam KL Rahul Athiya Wedding: Alia, Neha, Vikrant के बाद राहुल अथिया ने की बिना तामझाम के शादी