Mumbai ATS

कानपुर कांड: विकास दुबे के 2 साथी मुंबई से गिरफ्तार

NEWS Top News

कानपुर कांड के मुख्य आरोपी Vikas Dubey के एनकाउंटर में मार गिराए जाने के बाद शनिवार को मुंबई ATS ने उसके एक करीबी समेत दो को गिरफ्तार किया है। इन दोनों के नाम अरविंद उर्फ गुड्डन त्रिवेदी और उसका ड्राइवर सोनू तिवारी हैं।

गुड्डन पर बिकरू कांड में कानपुर पुलिस ने 50 हजार का इनाम घोषित कर रखा था। मुंबई ATS ने दोनों को जुहू इलाके से गिरफ्तार किया है। गुड्डन जिला पंचायत सदस्य है और कानपुर देहात का रहने वाला है। 8 पुलिस कर्मियों की हत्या में दर्ज FIR में पुलिस ने इसे भी नामजद किया है। बिकरू कांड के बाद से फरार चल रहा था।

महाराष्ट्र ATS ने बताया कि 11 जुलाई को मुंबई ATS यूनिट को पता चला कि कानपुर एनकाउंटर का एक आरोपी ठाणे में है और छिपने की कोशिश कर रहा है। इसके बाद उसे ढूंढने के लिए ऑपरेशन चलाया गया। उसे और उसके ड्राइवर को ठाणे से गिरफ्तार कर लिया गया।

कानपुर के बिकरू गांव में हुए एनकाउंटर के बाद से ही पुलिस को मुख्य आरोपी विकास दुबे की तलाश थी। उसपर पुलिस ने 5 लाख रुपये का इनाम भी रखा था। इसके बाद उसे 09 जुलाई को मध्य प्रदेश के उज्जैन से पुलिस ने पकड़ लिया था। इसी दौरान Vikas Dubey को कानपुर लाते समय यूपी STF की गाड़ी पलट गई, जिसके बाद दुबे ने पिस्टल छीनकर फायरिंग की। यूपी STF का दावा है कि इसके बाद जवाबी फायरिंग में Vikas Dubey घायल हो गया और अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसने दम तोड़ दिया।
मनी लॉन्डिंग का केस दर्ज करेगी ED

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) मारे गए अपराधी Vikas Dubey उसके परिवार के सदस्यों और साथियों द्वारा कथित रूप से धोखाधड़ी कर संपत्ति अर्जित और अवैध लेन-देन मामले की जांच करने और धनशोधन का मामला दर्ज करने के लिए तैयार है। अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि लखनऊ में स्थित एजेंसी के क्षेत्रीय कार्यालय ने 6 जुलाई को इस संबंध में कानपुर पुलिस को पत्र लिखकर दुबे और उससे जुड़े लोगों के खिलाफ दायर सभी प्राथमिकियां और आरोप पत्र तथा इन सभी मामलों की ताजा जानकारी मांगी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *