सीबीएसई के बाद अब यूपी बोर्ड की इंटर परीक्षा भी होगी रद, CM योगी आदित्यनाथ जल्द लेंगे निर्णय

Corona Updates NEWS Top News उत्तर प्रदेश शिक्षा

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 12वीं परीक्षा भी रद हो गई है। अब उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) की इंटरमीडिएट परीक्षा भी रद होने के पूरे आसार हैं। वजह, सीबीएसई परीक्षा का निर्णय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुआ है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जल्द ही इस संबंध में बैठक करके निर्णय लेंगे। वैसे यूपी बोर्ड ने मई माह में ही इंटर के परीक्षार्थियों को प्रमोट करने की तैयारियां कर रखी हैं। यूपी बोर्ट के सचिव ने 22 मई को ही सभी कॉलेजों से कक्षा 12 की प्रीबोर्ड और 11 की छमाही व वार्षिक परीक्षा के अंक मांगे थे, 28 मई तक अधिकांश स्कूल छात्र-छात्राओं के अंक का ब्योरा भेज चुके हैं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कहा कि प्रधानमंत्री ने कोविड संक्रमण के दृष्टिगत सीबीएसई की 12वीं बोर्ड परीक्षा रद करने का निर्णय लिया है। इसके लिए उन्होंने सभी छात्रों व अभिभावकों की ओर से प्रधानमंत्री को आभार व्यक्त किया। सीएम योगी ने कहा कि यह निर्णय देश भर के छात्रों की स्वास्थ्य सुरक्षा की दिशा में बढ़ाया गया महत्वपूर्ण कदम है। उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने प्रधानमंंत्री नरेद्र मोदी के निर्णय का आभार जताते हुए कहा कि उनके लिए हमेशा से ही बच्चों का भविष्य व स्वास्थ्य पहली प्राथमिकता रहे हैं। कोरोना काल की परिस्थितियों को देखते हुए बच्चों के हित में लिए गए इस निर्णय से न केवल बच्चों को बल्कि उनके अभिभावकों को भी राहत मिलेगी।

उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने कहा कि केद्र व राज्य सरकार अपने नागरिकों को कोरोना महामारी से सुरक्षित करने के लिए हर संभव कदम उठा रही हैं। आज का निर्णय उसी दिशा में लिया गया कदम है। उत्तर प्रदेश की सरकार पूर्व में ही कक्षा 6 से लेकर कक्षा 11 की परीक्षा को रद कर विद्यार्थियों को प्रोन्नत करने का निर्णय चुकी है। प्रधानमंंत्री द्वारा सीबीएसई की कक्षा 12 की परीक्षा के बारे में लिए गए निर्णय के बाद प्रदेश के माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की कक्षा 12 की परीक्षा के बारे में मुख्यमंत्री के साथ बैठक करने के बाद शीघ्र ही निर्णय लिया जाएगा। मालूम हो कि यूपी बोर्ड हाईस्कूल की परीक्षाएं पहले ही रद कर विद्यार्थियों को कक्षा 11वीं में प्रोन्नत किया जा चुका है। हाईस्कूल के 29.9 लाख विद्यार्थियों की प्रोन्नति पर मुहर लग चुकी है। अब इंटरमीडिएट के 26.10 लाख विद्यार्थियों को प्रोन्नति का तोहफा जल्द दिया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *