Bihar politics

तेजस्वी ने इतने लाख नौकरी-रोजगार देने का किया एलान, अफसरों को दिया 60 दिनों का टारगेट; डाक्टरों को चेतावनी

राज्य के युवाओं के रोजगार और नौकरी की व्यवस्था में जुटी सरकार ने घोषणा की है कि स्वास्थ्य विभाग में 1.60 लाख नौकरी और रोजगार दिए जाएंगे। इसकी व्यवस्था की जा रही है। प्रत्येक जिले में एक-एक मेडिकल कालेज बनाए जाने हैं उसके लिए भी सरकार पद सृजित कर रही है। शुक्रवार को उप मुख्यमंत्री सह स्वास्थ्य मंत्री तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने यह घोषणा की। तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) आयुष्मान भारत योजना के चार वर्ष पूरे होने के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में भाग लेने अधिवेशन भवन पहुंचे थे। यहां कहा कि स्वास्थ्य क्षेत्र में व्यापक सुधार के लिए मुख्यमंत्री नीतीश (CM Nitish Kumar) कुमार के नेतृत्व में कई अहम कदम उठाए जा रहे हैं। अभी हाल ही में पूर्व की कैबिनेट में बड़ी संख्या में पद सृजित किए गए हैं। मुख्यमंत्री का स्पष्ट मानना है कि स्वास्थ्य व्यवस्था को बेहतर करने के लिए मैन पावर बढ़ाना होगा। उन्होंने कहा रिक्त पदों का आकलन हो रहा है। आने वाले दिनों में स्वास्थ्य विभाग में 1.60 लाख नौकरी और रोजगार दिए जाएंगे।
मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना का मिलेगा लाभ

उप मुख्यमंत्री ने आयुष्मान भारत योजना में बिहार के साढ़े 5 करोड़ लोग शामिल हैं। 89 लाख परिवार यानी साढ़े 3 करोड़ लोग ऐसे भी हैं योजना से छूट गए हैं। इन लोगों के लिए स्वास्थ्य विभाग मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना ला रहा है। इस का प्रस्ताव जल्द ही मंत्रिमंडल के ध्यानार्थ लाया जाएगा। तेजस्वी यादव ने कहा, मुख्यमंत्री का स्पष्ट कहना है कि शिक्षा और स्वास्थ्य प्रक्षेत्र की बेहतरी के लिए पैसों से कोई समझौता नहीं होगा।
अधिकारियों को 60 दिनों का लक्ष्य

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, स्वास्थ्य व्यवस्था में बड़े बदलाव के लिए अधिकारियों को 60 दिनों का लक्ष्य दिया है। लोगों को दवा मिले, अस्पतालों में स्वच्छता मिले। हमारा नारा था कमाई, दवाई, पढ़ाई, सुनवाई और सिंचाई प्राथमिकता है। अस्पतालों में मरीजों के लिए कई प्रकार की मुफ्त दवाओं की व्यवस्था है। इसमें अब किडनी ट्रांसप्लांट के बाद के बाद दी जाने वाली दवाएं भी शामिल की गई हैं। उन्होंने कहा, दवाएं सुरक्षित रहें इसके लिए प्रत्येक जिले में वेयर हाउस भी बनाए जाएंगे।
जो गलत करेंगे उन्हें दंड मिलेगा

डाक्टरों के अस्पताल से गायब रहने पर नाराजगी जताते हुए कहा, जो गलत करेंगे उन्हें दंड मिलेगा बेहतर करने वाले सम्मानित किए जाएंगे। स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने कहा, आयुष्मान योजना के व्यापक प्रचार प्रसार की जरूरत है। जो योजना के पात्र हैं उन्हें जल्द से जल्द कार्ड बनाकर देना है। इस काम को कम समय में करना होगा। कार्यक्रम में आयुष्मान योजना के लाभार्थियों ने अपनी कहानी सुनाई। इस दौरान बेहतर कार्य करने वाले डाक्टरों को सम्मानित भी किया गया। कार्यक्रम में स्वास्थ्य सचिव के सेंथिल कुमार, स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक संजय सिंह, स्वास्थ्य सुरक्षा समिति के कार्यपालक कौशल किशोर, अमिताभ सिंह के साथ ही दूसरे कई पदाधिकारी मौजूद रहे।