RSS background Leader

RSS पृष्ठभूमि वाले और नेताओं को बीजेपी में किया जाएगा शामिल

NEWS Top News

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की पृष्ठभूमि के और लोगों के BJP संगठन में शामिल होने की संभावना है। इससे पहले जब पार्टी अध्यक्ष JP Nadda ने अपनी नई टीम की घोषणा की तो RSS पृष्ठभूमि के 2 नेता, जो अमित शाह के शासन के दौरान महासचिव के रूप में काम कर रहे Ram Madhav और Murlidhar Rao को हटा दिया था। गौरतलब है कि आरएसएस BJP का संगठन का मातृ संगठन है। देश में RSS सांस्कृतिक संगठन के रूप में काम करता है।


लेकिन कुछ दिन पहले BJP के अध्यक्ष JP Nadda ने महत्वपूर्ण संगठनात्मक बदलाव किए थे। पिछले दिनों BJP ने संयुक्त महासचिव वी. सतीश को नवसृजित ‘ऑर्गेनाइजर’ पद पर नियुक्त किया। अन्य संयुक्त महासचिव (संगठन) सौदान सिंह को पार्टी के उपाध्यक्ष के रूप में पदोन्नत किया गया। संयुक्त संगठनात्मक सचिव शिव प्रकाश उसी पद पर बने रहेंगे, लेकिन उनकी जिम्मेदारी बदल दी गई है।


पहले उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश तथा बंगाल में पार्टी का कामकाज देख रहे शिवप्रकाश अब भोपाल में रहकर मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना तथा बंगाल का कामकाज देखेंगे। सतीश अब पार्टी के संसदीय कार्यालय, SC/ST मोर्चा तथा इसके विशेष संपर्क कार्यक्रमों के संयोजन का कामकाज संभालेंगे। रायपुर में रहकर मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार तथा झारखंड में पार्टी का काम कर रहे सौदान सिंह अब चंडीगढ़ में रह कर चंडीगढ़, हरियाणा, पंजाब तथा हिमाचल प्रदेश का कामकाज देखेंगे। ये तीनों नेता- बी सतीश, शिव प्रकाश तथा सौदान सिंह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पूर्णकालिक प्रचारक हैं।


तीनों संयुक्त महासचिवों की जिम्मेदारियों को बदल दिया गया है, इसलिए अब इनमें से कम से कम दो खाली पदों को BJP के नेतृत्व द्वारा जल्द भरा जाना है। तीनों पूर्णकालिक प्रचारक हैं और RSS से जुड़े हुए हैं, इसलिए उन लोगों में से अब 2 संयुक्त महासचिवों को शामिल किए जाने की संभावना है जो राज्यों में काम कर रहे हैं या RSS से शामिल हो सकते हैं।

READ MORE:   दिल्ली: कोरोना की बढ़ी रफ्तार, आंकड़ा 70 हजार के पार, मुंबई को छोड़ा पीछे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *