पुलवामा जैसे हमले की साजिश नाकाम, जम्मू के प्रसिद्ध रघुनाथ मंदिर में धमाके की थी योजना

जम्मू में भीड़भाड़ वाले एक बस स्टैंड के नजदीक से एक नर्सिंग छात्र के पास से रविवार को शक्तिशाली आईईडी (IED) बरामद किया गया। विस्फोटक की बरामदगी होने से एक बड़ी घटना टल गई और पुलवामा हमले की दूसरी बरसी पर विस्फोट करने की आतंकवादियों की साजिश नाकाम हो गई। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि छात्र और तीन अन्य को गिरफ्तार कर लिया गया है। अधिकारियों के मुताबिक निशाने पर जम्मू का प्रसिद्ध रघुनाथ मंदिर भी था।

जम्मू रेंज के पुलिस महानिरीक्षक (IG) मुकेश सिंह ने बताया कि एक अलग अभियान में सांबा जिले से छह पिस्तौलें और 15 छोटे IED जब्त किए गए हैं। उन्होंने पत्रकारों को बताया, ‘पिछले चार दिनों में हम हाई अलर्ट पर थे क्योंकि सामान्य खुफिया सूचना थी कि आतंकी समूह पुलवामा हमले की दूसरी बरसी पर जम्मू शहर में एक बड़ा विस्फोट की फिराक में हैं। सभी महत्वपूर्ण स्थानों की सुरक्षा बढ़ा दी गई थी और जांच तेज कर दी गई थी।’

सिंह के साथ पुलिस महानिदेशक (DGP) दिलबाग सिंह भी थे। उन्होंने बताया कि एक युवक को बस स्टैंड क्षेत्र में एक बैग के साथ संदिग्ध रूप से घूमते पाया गया। उसके पास से करीब सात किलोग्राम IED बरामद किया गया। हालांकि अभी विस्फोटक को सक्रिय नहीं किया गया था।

IG ने आरोपी की पहचान पुलवामा के नेवा गांव निवासी सुहैल बशीर शाह के तौर पर बताई है जो चंडीगढ़ के एक कॉलेज से नर्सिंग का पाठ्यक्रम कर रहा है। पाकिस्तान में बैठे आतंकी संगठन अल बद्र से संबद्ध उसके आकाओं ने उसे जम्मू में IED रखने का काम सौंपा था। उन्होंने बताया, ‘उसे चार लक्ष्य दिए गए थे जिनमें (प्रसिद्ध ) रघुनाथ मंदिर, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन और लखदाता बाजार शामिल थे और उसे अपना काम पूरा करने के बाद एक उड़ान से श्रीनगर जाना था।’

सिंह ने बताया कि अल बद्र का सक्रिय सदस्य अतहर शकील खान उसे श्रीनगर हवाई अड्डे पर लेने आता। खान को गिरफ्तार कर लिया गया है। IG ने बताया, ‘कश्मीर के उसके साथी छात्र काज़ी वसीम को इस योजना के बारे में पता था और उसे चंडीगढ़ से हिरासत ले लिया गया है, जबकि उसके एक अन्य सहयोगी आबिद नबी को श्रीनगर से गिरफ्तार किया गया है।’

Leave a Comment

Your email address will not be published.