Dead body of Ram Vilas Paswan

रामविलास पासवान का राजकीय सम्मान के साथ अंत्‍येष्टि आज, चिराग पासवान देंगे मुखाग्नि

NEWS Top News

पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं लोक जनशक्ति पार्टी के संस्थापक Ram Vilas Paswan का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार आज 10 अक्‍टूबर, शनिवार को दोपहर करीब डेढ़ बजे राजधानी पटना के दीघा स्थित जर्नादन घाट पर होगा। शनिवार सुबह 8 बजे से ही उनके पटना के श्रीकृष्णपुरी स्थित उनके निजी आवास पर अपने लोकप्रिय नेता के अंतिम दर्शन को लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। यहां से दोपहर में उनकी अंतिम यात्रा दीघा के जनार्दन घाट के लिए शुरू होगी।

इसके पहले उनका पार्थिव शरीर वायुसेना के विशेष विमान से शुक्रवार की शाम साढ़े 7 बजे दिल्ली से पटना लाया गया। पटना एयरपोर्ट पर श्रद्धांजलि देते वक्‍त चिराग पासवान फूट-फूटकर रो पड़े। वहां मौजूद सभी की आंखें नम हो गई। स्‍टेट हैंगर में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी श्रद्धांजलि देते वक्‍त खुद की भावनाओं को काबू न कर सके और उनकी आंखें छलक गईं। वहां केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय, डिप्टी CM सुशील कुमार मोदी एवं नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी। इसके बाद पासवान के पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए LJP कार्यालय में रखा गया ।
राष्‍ट्रपति और प्रधानमंत्री ने दी श्रद्धांजलि

इससे पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और BJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत कई केंद्रीय मंत्रियों ने शुक्रवार को नई दिल्ली में 12 जनपथ स्थित उनके आवास पर जाकर पासवान को भावभीनी श्रद्धांजलि दी। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चिराग पासवान के कंधे पर हाथ रखकर ढाढस बंधाया। 74 वर्षीय Ram Vilas Paswan का गुरुवार को निधन हो गया था। वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे।
शोक संवेदनाओं का तांता लगा रहा

READ MORE:   15 मई को कोरोना का पीक... IIT की रिपोर्ट का जिक्र कर दिल्ली HC ने पूछा- सुनामी से निपटने को क्या है तैयारी?

पटना एयरपोर्ट से पासवान के पार्थिव शरीर को लोजपा कार्यालय लाया गया, जहां उनके नाते-रिश्तेदारों समेत लोजपा के नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। मौके पर पासवान की धर्मपत्नी रीना पासवान, पुत्र चिराग पासवान, भतीजा प्रिंस राज के अलावा भारत सरकार के प्रतिनिधि के रूप में केंद्रीय कानून और सूचना व प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद मौजूद थे।
पासवान के सम्मान में आधा झुका रहा ध्वज

लोकजन शक्ति पार्टी के राष्ट्रीय संरक्षक और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का आठ अक्टूबर को निधन हो गया। जिसके बाद उनके सम्मान में आज राजधानी की विभिन्न इमारतों पर राष्ट्रीय ध्वज आधे झुके रहे।

मंत्रिमंडल सचिवालय के आदेश पर पासवान के सम्मान में ध्वज आधे झुकाए गए। विभाग ने आदेश में कहा है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री का जहां अंतिम संस्कार होगा वहां अंत्येष्टि के दिन राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा। मंत्रिमंडल सचिवालय ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं।
शाेक में डूबा बिहार

Ram Vilas Paswan के निधन पर बिहार में शोक की लहर है। पूर्व मुख्‍यमंत्री लालू प्रसाद यादव, CM नीतीश कुमार, व उनके मंत्रिमंडल के सदस्‍यों, बिहार से जुड़े केंद्रीय नेताओं, बिहार के जनप्रतिनिधियों व नेताओं तथा गणमान्‍य लोगों ने शोक व्‍यक्‍त किया है।

आत्मीय संबंधों के चलते हमेशा याद रहेंगे पासवान : नीतीश


विधानसभा परिसर में Ram Vilas Paswan के पार्थव शरीर पर माल्यार्पण के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व केंद्रीय मंत्री के निधन से वह दुखी हैं। इधर कुछ दिनों से उनकी तबीयत खराब थी। हम सबको लग रहा था कि वह स्वस्थ हो जाएंगे, किंतु वह चले गए। उनके जाने से हम सब दुखी हैं। उन्होंने युवावस्था से ही लोगों की सेवा की थी। बड़े पैमाने पर लोगों से जुड़े भी रहे। हमारा उनसे पुराना संबंध रहा है। उन्होंने जो काम किया और जिस आत्मीयता से लोगों से जुड़े रहते थे, उससे लोग उन्हें हमेशा याद रखेंगे। एक दिन सबको जाना है, किंतु इस तरह जाने से दुख होना लाजिमी है।
भाई आप जल्दी चले गए: लालू प्रसाद यादव

READ MORE:   बिहार का रण: JDU और LJP में तल्खी बढ़ी, नीतीश को PM मोदी का कृपापात्र नेता बताया

राष्‍ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने Ram Vilas Paswan से अपना 45 साल का रिश्ता बताया और सोशल मीडिया पर अपनी भावनाएं व्यक्त कीं। निधन की खबर सुनने के बाद दुख जताते हुए लालू ने लिखा कि रामविलास भाई आप जल्दी चले गए। इससे ज्यादा कुछ कहने की स्थिति में नहीं हूं। आपके असामयिक निधन का समाचार सुन कर अति मर्माहत हूं। गत 45 वर्षों का अटूट रिश्ता और साथ लड़ी तमाम सामाजिक, राजनीतिक लड़ाइयां आंखों में तैर रही हैं। विदित हो कि पासवान से लालू का गहरा रिश्ता रहा। राजनीतिक बयानबाजियों के दौर में भी कभी लालू ने पासवान के बारे में कभी तल्ख टिप्पणी नहीं की।
केंद्रीय मंत्रियों ने जताया निधन पर शोक

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने उन्‍हें याद करते हुए कहा कि Ram Vilas Paswan ने 6 PM के साथ काम किया। केंद्रीय मंत्री गिरिरराज सिंह ने कहा कि उनका कोइ्र दुश्‍मन नहीं रहा, मतभेद भले रहे हों। BJP के प्रवक्‍ता सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि वे समाजिक न्‍याय के नेता थे। उन्‍होंने समाज को जोड़ने के लिए जीवन दे दिया। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने कहा कि Ram Vilas Paswan का बिहार की राजनीति में योगदान अविस्मरणीय है।
कांग्रेस नेताओं ने व्‍यक्‍त किया शोक

कांग्रेस नेताओं ने Ram Vilas Paswan के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। बिहार कांग्रेस के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि उनकी कमी हर वक्‍त खलेगी। बिहार कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. मदन मोहन झा ने कहा कि Ram Vilas Paswan का यूं चले जाना भारतीय राजनीति के लिए एक गहरा सदमा है। वे हमेशा याद आते रहेंगे। विधायक दल के नेता सदानंद सिंह, कार्यकारी अध्यक्ष समीर कुमार सिंह, श्याम सुंदर सिंह धीरज, डॉ. अशोक कुमार, कौकब कादरी, अखिलेश प्रसाद सिंह, प्रेमचंद मिश्रा, हरखू झा, एचके वर्मा और राजेश राठौर ने भी शोक व्यक्त किया है।

READ MORE:   बिहार का रण: JDU के झंडे से ऐश्वर्या ढहाएंगी ससुराल का 'किला', तेजस्वी उतारेंगे भाई की साली!

गणमान्‍य ने दी श्रद्धांजलि

हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के प्रमुख जीतन राम मांझी ने कहा कि पासवान के निधन से वे मर्माहत हैं। विकासशील इंसान पार्टी के प्रमुख मुकेश सहनी ने कहा कि देश और बिहार के विकास के लिए Ram Vilas Paswan द्वारा किए गए कार्यों को कभी भुलाया नहीं जा सकेगा। जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष पप्पू यादव ने कहा कि बिहार के बेमिसाल लाल Ram Vilas Paswan के निधन से उन्हें व्यक्तिगत क्षति हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *