विकास दुबे के दो और साथी रणबीर शुक्ला और प्रभात मिश्रा ढेर, विकास दुबे अभी भी फरार

उत्तर प्रदेश क्राइम देश राज्य

कानपुर में हुई शूटआउट का मुख्य आरोपी और हिस्ट्रशीटर विकास दुबे हालांकि अभी भी पुलिस की गिरफ्त से दूर है। लेकिन अब यूपी पुलिक की दबिश और तेज हो गई है। आज तड़के विकास दुबे के दो और साथियों के मारे जाने की खबर है। बता दें विकास दुबे का करीबी रणबीर शुक्ला और प्रभात मिश्रा को पुलिस ने एनकाउंटर में ढेर कर दिया है। प्रभात मिश्रा को बीते बुधवार को पुलिस ने फरीदाबाद के होटल से गिरफ्तार किया था। बताया जा रहा है कि प्रभात पुलिस की कस्टडी से भाग रहा था। इसके बाद एनकाउंटर में प्रभात को मार गिराया गया। प्रभात मिश्रा के एनकाउंटर के बारे में बताते हुए आईजी मोहित अग्रवाल ने कहा कि पुलिस टीम प्रभात को लेकर फरीदाबाद से आ रही थी। रास्ते में गाड़ी पंचर हो गई। इस दौरान प्रभात ने पुलिस का हथियार छीनकर भागने की कोशिश की। इसके बाद हुए एनकाउंटर में प्रभात मारा गया है। वहीं इस एनकाउंटर में कुछ सिपाही भी घायल हुए हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

वहीं दूसरा साथी और कानपुर शूटआउट का एक औरआरोपी रणबीर शुक्ला यूपी के इटावा में मारा गया। पुलिस के मुताबिक, रणबीर शुक्ला ने देर रात महेवा के पास हाईवे पर स्विफ्ट डिजायर कार को लूटा था। पुलिस को लूट की जैसे ही खबर मिली, पुलिस ने चारों को सिविल लाइन थाने के काचुरा रोड पर घेर लिया। जिसके बाद पुलिस और रणबीर शुक्ला के बीच फायरिंग शुरू हो गई। इस फायरिंग के दौरान रणबीर शुक्ला मारा गया। हालांकि, उसके तीन अन्य साथी भागने में कामयाब रहे। इटावा पुलिस ने आस-पास के जिले को अलर्ट कर दिया है। आपको बता दें मारे गए विकास दुबे के करीबी रणबीर शुक्ला पर पुलिस ने 50 हजार का इनाम रखा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *