LJP सांसद प्रिंस राज और Chirag Paswan के खिलाफ रेप मामले में FIR, पीड़िता ने लगाए गंभीर आरोप

NEWS Top News

दिल्ली पुलिस (Delhi POlice) ने समस्तीपुर से LJP सांसद प्रिंस राज (Prince Raj) के खिलाफ रेप के मामले में FIR दर्ज किया है. FIR में LJP नेता चिराग पासवान (Chirag Paswan) का भी नाम है. चिराग पर आरोप लगा है कि उन्होंने अपने चचेरे भाई प्रिंस के खिलाफ कार्रवाई में देरी करने की कोशिश की थी. दिल्ली के कनॉट प्लेस थाने में ये मामला दर्ज हुआ है.

पीड़िता ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘मैं LJP से से जुड़ी थी. साल 2020 में प्रिंस राज ने वेस्टर्न कोर्ट में मेरा रेप किया. इतना ही नहीं. मेरा अश्लील वीडियो भी बनाया गया.’ पाड़िता ने कहा कि मुझे डराने के लिए प्रिंस राज ने मेरे ऊपर संसद मार्ग थाने में जबरन उगाही का फर्जी केस भी दर्ज कराया. बता दें कि प्रिंस राज स्व. रामविलास पासवान के सबसे छोटे भाई रामचंद्र पासवान के बेटे हैं.

उसने आगे कहा, ‘मैंने जब ये सब चिराग भैया को बताया तो उन्होंने मेरी मदद करने की बजाय मेरी पहचान सार्वजनिक की और प्रिंस राज की मदद की. उसने कहा कि मैंने 3 महीने पहले कनॉट प्लेस थाने में शिकायत दी थी लेकिन पुलिस ने कार्रवाई नहीं की. अब कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने प्रिंस राज और चिराग पासवान के खिलाफ केस दर्ज किया है.

बता दें कि दिल्ली की एक अदालत के आदेश के बाद पुलिस ने प्रिंस राज और चिराग पासवान के खिलाफ 7 सितंबर को मामला दर्ज किया. पीड़ित पक्ष के वकील सुदेश कुमारी जेठवा ने इस मामले को लेकर बताया था कि उन्होंने मई में दिल्ली पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी. इसके बाद उन्होंने जुलाई में दिल्ली की एक अदालत में एक आवेदन दिया. जिसके बाद कोर्ट ने सांसद प्रिंस राज और उनके चचेरे भाई चिराग पासवान के खिलाफ FIR दर्ज करने का निर्देश दिया था.

READ MORE:   आज राज्यसभा सदस्यों का शपथ ग्रहण समारोह, 42 सांसदों के मौजूद रहने की खबर

गौरतलब है कि इस मामले के प्रकाश में आने के बाद 17 जून को LJP सांसद प्रिंस राज ने ट्वीट कर कहा था, ‘मैं स्पष्ट रूप से इस तरह के किसी भी दावे या बयान से इनकार करता हूं, जो भी मेरे खिलाफ किए गए हैं. ऐसे सभी दावे झूठे, मनगढ़ंत हैं, और मेरी प्रतिष्ठा को खतरे में डालकर पेशेवर और व्यक्तिगत रूप से मुझ पर दबाव बनाने के लिए एक बड़ी आपराधिक साजिश रची जा रही है.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *