181 passenger trains to be run as express

रेलवे ने दी यात्रियों को बड़ी राहत-दिवाली-छठ से पहले चलाएगा फेस्टिवल स्पेशल ट्रेनें, देखिए पूरी लिस्ट

NEWS Top News

दिवाली और छठ पूजा पर घर जाने वालों को Indian Railways ने अच्‍छी खबर दी है। अगर त्‍योहारों में आप घर जाने की योजना बना रहे हैं तो आपको ट्रेन में टिकट के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। इसके लिए भारतीय रेलवे ने 68 Festival Special Trains चलाने का एलान किया है। यह सभी ट्रेन उत्तर प्रदेश और बिहार के अलग-अलग जिलों के साथ देश के कुछ अन्य हिस्सों में भी जाएंगी।

पूरी तरह से आरक्षित होंगी फेस्टिवल स्‍पेशल ट्रेन
अगर आप भी यूपी-बिहार में अपने घर जाने की योजना बना रहे हैं तो इन ट्रेनों की लिस्ट चेक कर आज ही अपना टिकट बुककरा सकते हैं। ये सभी ट्रेन पूरी तरह से आरक्षित हैं। इसलिए टिकट रिजर्वेशन के बिना यात्रियों को सफर करने की अनुमति नहीं होगी। कोरोना काल में फिलहाल सीमित संख्या में ट्रेनों का संचालन किया जा रहा है। ऐसे में फेस्टिवल सीजन में ट्रेनों की मांग को देखते हुए रेलवे ने अन्य स्पेशल ट्रेनों को चलाने का फैसला किया है।


रेलवे ने इससे पहले दुर्गा पूजा, दीपावली और छठ के मौके पर मांग को पूरा करने के लिए 392 से ज्‍यादा स्‍पेशल ट्रेनें चलाने का फैसला लिया था। भारतीय रेलवे के मुताबिक, ये स्‍पेशल ट्रेनें 20 अक्टूबर 2020 से दीपावली और Chhath Puja के बाद 30 नवंबर 2020 तक चलाई जा रही हैं. वहीं, लंबी वेटिंग लिस्‍ट वाले सबसे ज्‍यादा व्‍यस्‍त रूट्स के लिए भारतीय रेलवे ने क्‍लोन ट्रेनें चलाने का फैसला भी किया है। क्‍लोन ट्रेनों की रफ्तार मुख्‍य ट्रेन से ज्‍यादा होगी। साथ ही ये कम स्‍टेशनों पर रुकेगी। इसलिए ये ट्रेनें मुख्‍य ट्रेनों के बाद चलने के बावजदू समय पर आखिरी स्‍टेशन तक पहुंचेंगी।

181 ट्रेनों में किया जाएगा बदलाव

फिलहाल देशभर में 181 पैसेंजर ट्रेनों को एक्सप्रेस बनाया जा रहा है। सबसे ज्यादा दक्षिण मध्य रेलवे में 23 ट्रेनें एक्सप्रेस में परिविर्तित हो जाएंगी। उसके बाद उत्तर पश्चिम रेलवे में 22 ट्रेनों को एक्सप्रेस बनाने की तैयारी है। उत्तर रेलवे में भी लंबी दूरी तय करने वाली दस पैसेंजर ट्रेनें अब एक्सप्रेस बन जाएंगी। नए टाइम टेबल में यह बदलाव देखने को मिलेगा। अधिकारियों का कहना है कि अभी नियमित ट्रेनों का परिचालन बंद है। Corona संक्रमण का प्रकोप खत्म या कम होने के बाद गृह मंत्रालय से अनुमति मिलने के बाद ट्रेनों का नियमित परिचालन शुरू होगा और उससे पहले नया टाइम टेबल भी घोषित हो जाएगा।


कम समय में पूरा होगा सफर

पैसेंजर ट्रेन से दिल्ली से फिरोजपुर कैंट का सफर 12.25 घंटे में तय होता है। वहीं, इंटरसिटी एक्सप्रेस यह दूरी 7.40 घंटे में तय करती है। इसी तरह से दिल्ली से हरिद्वार पैसेंजर ट्रेन से जाने में 12 घंटे से ज्यादा समय लगता है, जबकि एक्सप्रेस ट्रेनों से यह दूरी चार से आठ घंटे में तय हो जाती है।

दैनिक यात्रियों को होगी परेशानी

पैसेंजर ट्रेन से बड़ी संख्या में दैनिक यात्री भी सफर करते हैं, क्योंकि इनका ठहराव प्रत्येक रेलवे स्टेशन पर होता है। एक्सप्रेस बनने के बाद इनका ठहराव भी कम होगा।

पैसेंजर से एक्सप्रेस में परिवर्तित होने वाली उत्तर रेलवे की ट्रेनें

दिल्ली-कालका (54303/54304)
दिल्ली-ऋषिकेश (54471/54472)
दिल्ली-हरिद्वार (54475/54476)
दिल्ली-फिरोजपुर कैंट (54641/54642)
दिल्ली-अंबाला कैंट एमईएमयू (64561/64562)
दिल्ली-कुरुक्षेत्र डीईएमयू (74013/74013)
हिसार-अमृतसर (54601/54602)
धुरी-बठिंडा (54555/54556)
प्रयागराज संगम-बरेली (14307/14308)
जिंद-फिरोजपुर कैंट (54045/54046)
अलग-अलग जोन में एक्सप्रेस में परिवर्तित होने वाली पैसेंजर ट्रेनों की संख्या
रेलवे जोन ट्रेन की संख्या

मध्य रेलवे- 18

पूर्व तटीय रेलवे-3

पूर्व मध्य रेलवे-5

पूर्व रेलवे-6

कोंकण रेलवे-3

उत्तर मध्य रेलवे-3

उत्तर पूर्व रेलवे-3

पूर्व सीमांत रेलवे-10

उत्तर रेलवे-10

उत्तर पश्चिम रेलवे-22

दक्षिण मध्य रेलवे-23

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे-2

दक्षिण पूर्व रेलवे-18
दक्षिण रेलवे-18

दक्षिण पश्चिम रेलवे-16

पश्चिम मध्य रेलवे-5

पश्चिम रेलवे-16

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *