DCGI Press Conference on Coronavirus Vaccine

कोविशील्ड और कोवैक्सीन के इमरजेंसी परमिशन पर PM मोदी ने दी बधाई

Corona Updates NEWS Top News

कोरोना महामारी से निपटने के लिए वैक्सीन का इंतजार खत्म हो गया है। ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक की Corona Vaccine को आपातकालीन स्थिति में इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है। इसके साथ ही मैसर्स केडिला हेल्थकेयर को भारत में तीसरे चरण के ​क्लीनिकल ट्रायल करने की अनुमति दी गई है। DCGI के अनुसार दोनों वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित हैं। टीकाकरण के दौरान 2-2 डोज डी जाएगी। इससे पहले इन दोनों Corona Vaccine के इस्तेमाल की सिफारिश करने वाली सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमिटी (CEC) ने कुछ शर्तों के साथ दोनों Vaccine के आपात इस्तेमाल को हरी झंडी दी थी, जिस पर आज DCGI ने आखिरी मुहर लगाई है।


बता दें कि आक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी-एस्ट्राजेनेका द्वारा विकसीत वैक्सीन को सीरम इंस्टीट्यूट कोविशील्ड नाम से भारत में उत्पादन कर रहा है, वहीं स्वदेशी वैक्सीन कोवैक्सीन को भारत बायोटेक और इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आइसीएमआर) ने विकसित किया है। DCGI से मंजूरी मिलने के बाद अब देश में Corona Vaccine का इस्तेमाल शुरू हो जाएगा।


पीएम मोदी ने दी बधाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक की Corona Vaccine के इमरजेंसी इस्तेमाल को DCGI से अनुमति मिलने के लिए देशवासियों और वैज्ञानिकों को बधाई दी। उन्होंने ट्वीट करके कहा, ‘ वैश्विक महामारी के खिलाफ भारत की जंग में एक निर्णायक क्षण! सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक की वैक्सीन को DCGI की मंजूरी से एक स्वस्थ और कोविड मुक्त भारत की मुहिम को बल मिलेगा। इस मुहिम में जी-जान से जुटे वैज्ञानिकों-इनोवेटर्स को शुभकामनाएं और देशवासियों को बधाई। यह गर्व की बात है कि जिन 2 वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी दी गई है, वे दोनों मेड इन इंडिया हैं। यह आत्मनिर्भर भारत के सपने को पूरा करने के लिए हमारे वैज्ञानिक समुदाय की इच्छाशक्ति को दर्शाता है। वह आत्मनिर्भर भारत, जिसका आधार है- सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामया। विपरीत परिस्थितियों में असाधारण सेवा भाव के लिए हम डॉक्टरों, मेडिकल प्रोफेशनल्स, वैज्ञानिकों, पुलिसकर्मियों, सफाईकर्मियों और सभी कोरोना वॉरियर्स के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करते हैं। देशवासियों का जीवन बचाने के लिए हम सदा उनके आभारी रहेंगे।’


WHO ने किया भारत के फैसले का स्वागत

भारत में दो Corona Vaccine को आपातकाल में इस्तेमाल की मंजूरी मिलने का विश्व स्वास्थ्य संगठन(WHO) ने स्वागत किया है। WHO दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र की क्षेत्रीय निदेशक डॉ. पूनम खेत्रपाल सिंह ने कहा है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने Corona Vaccine के लिए भारत द्वारा आपातकालीन उपयोग की मंजूरी देने के निर्णय का स्वागत करता है।


जानिए DCGI ने क्या कहा ?

भारत के ड्रग कंट्रोलर जनरल वीजी सोमानी ने दोनों वैक्सीन को मंजूरी मिलने के बाद कहा कि यदि सुरक्षा संबंधी थोड़ी भी चिंता होती तो हम कभी भी इसे मंजूर नहीं करते। उन्होंने कहा कि यह दोनों टीके 100 % सुरक्षित हैं। उन्होंने आगे कहा कि हल्का बुखार, दर्द और एलर्जी जैसे कुछ दुष्प्रभाव(साइड इफेक्ट) हर टीके के लिए आम हैं। उन्होंने कहा कि इससे नपुंसक होने की बात बिलकुल गलत है।


टीकाकरण को लेकर पुरजोर तैयारियों में जुटी केंद्र सरकार

केंद्र सरकार कोरोना टीकाकरण को लेकर पुरजोर तैयारियों में जुटी हुई है। इसी के मद्देनजर देश के हर राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों में शनिवार को Vaccine के ड्राई रन का आयोजन हुआ। इस दौरान टीकाकरण के तैयारियों के परखा गया। केंद्र सरकार ने इस दौरान बताया कि देशभर में सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में आयोजित मॉक ड्रिल के दौरान 286 सत्रों में लगभग 1,14,100 वैक्सीनेटर्स को प्रशिक्षित किया गया।


ड्राई रन के दौरान तमाम चीजों का आकलन किया गया

ड्राई रन के दौरान तमाम चीजों का आकलन किया गया। को-विन प्लेटफार्म कैसे काम करेगा ? वेटिंग रूम में बैठने की व्यवस्था, आब्जर्वेशन रूम, साइड इफेक्ट होने पर टीका केंद्र पर इमरजेंसी किट व दवाओं की उपलब्धता के अलावा यदि किसी को अस्पताल में स्थानांतरित करने की जरूरत पड़ी, तो उसके लिए क्या व्यवस्था है। ऐसी तमाम चीजों का आंकलन हुआ। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने Vaccine को लेकर फैलाए जा रहे अफवाहों से बचने की सलाह दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *