Rajasthan Political Crisis

अब क्या करेंगे अशोक गहलोत?

NEWS Top News

कांग्रेस राजस्थान की जंग जयपुर से दिल्ली ले जाने की तैयारी में है। शुक्रवार को राजभवन में गहलोत गुट के विधायकों के धरना देने के बावजूद अगर लगता है कि उनकी मांग की अनदेखी हो रही है तो फिर Congress दिल्ली का रुख करेगी। मुख्यमंत्री Ashok Gehlot और उनका खेमा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के समक्ष गुहार लगाएगा। इसके साथ ही गहलोत गुट के विधायकों की सड़क पर भी उतरने की प्लानिंग है।

राजस्थान हाईकोर्ट से निराशा हाथ लगने के बाद गहलोत गुट के विधायक राजभवन पहुंचे हैं। सीएम Ashok Gehlot और उनके खेमे की मांग है कि राज्यपाल विधानसभा का सत्र बुलाएं। राज्यपाल कलराज मिश्रा ने राजभवन पहुंचे गहलोत गुट के विधायकों से मुलाकात भी की।

कलराज मिश्रा ने कहा कि आपकी मांग हमने सुन ली है। पूरा मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है। संवैधानिक संस्थाओं का टकराव नहीं होना चाहिए। कलराज मिश्रा ने कहा कि विचार-विमर्श के लिए वक्त चाहिए।

इससे पहले राजभवन परिसर में Congress विधायकों ने नारेबाजी की। कांग्रेस विधायकों ने अशोक गहलोत के समर्थन में नारे लगाए। वहीं, गहलोत सरकार का कहना है कि कैबिनेट ने प्रस्ताव पास कर दिया है, तो राज्यपाल को विधानसभा का सत्र बुलाना ही होगा। केंद्र सरकार लोकतंत्र का गला घोंटना चाहती है। Congress नेताओं की ओर से कहा गया है कि कोई भी विधायक Corona पॉजिटिव नहीं है। इससे पहले राज्यसभा चुनाव में Covid पॉजिटिव विधायकों ने वोट दिया था।

इस पूरे मामले पर राजस्थान के सीएम Ashok Gehlot ने कहा कि हमने राज्यपाल को चिट्ठी लिखी है कि वो तुरंत विधानसभा सत्र बुलाएं, जिसमें Corona संकट, Lockdown पर चर्चा हो सके। राज्यपाल की ओर से अभी तक जवाब नहीं आया है। हमने रात को चिट्ठी लिखी थी। हमारा मानना है कि ऊपर से दबाव होने के कारण वो विधानसभा सत्र बुलाने का निर्देश नहीं दे रहे हैं।

कांग्रेस का बीजेपी पर निशाना

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने BJP पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि BJP गुंडागर्दी कर रही है। क्या गवर्नर Article 174 के तहत विधानसभा सत्र बुलाने से इंकार कर सकते है? जब Congress सरकार विधानसभा सत्र बुलाना चाहती है तो BJP भाग क्यों रही है?कब तक जनमत का चीरहरण करेंगे?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *