FARMERS MEETING FAILED

कांग्रेस और उसके सहयोगियों ने फिर लोकतंत्र को शर्मसार किया-अमित शाह

Top News

मुंबई पुलिस ने बुधवार सुबह रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ Arnab Goswami को उनके घर से हिरासत में ले लिया है। इसको लेकर अर्नब ने मुंबई पुलिस पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। एएनआइ द्वारा Republic TV की तरफ से दिखाए गए अर्नब के घर के एक लाइव फुटेज को दिखाया गया, जिसमें पुलिस और अर्नब के बीच झड़प होती दिख रही थी। पुलिस ने Arnab Goswami को 2 साल पुराने इंटीरियर डिजाइनर की आत्महत्या के मामले में गिरफ्तार किया है। पिछले दिनों इस मामलें में फिर से जांच के आदेश दिए गए थे। इस गिरफ्तारी पर देश के तमाम मंत्रियों की प्रतिक्रिया सामने आ रही है।

-केंद्रीय गृह मंत्री Amit Shah ने कहा, ‘कांग्रेस और उसके सहयोगियों ने एक बार फिर लोकतंत्र को शर्मसार किया है। Republic TV और Arnab Goswami के खिलाफ राज्य की सत्ता का दुरुपयोग व्यक्तिगत स्वतंत्रता और लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर हमला है। यह हमें आपातकाल की याद दिलाता है। फ्री प्रेस पर इस हमले का विरोध होगा।’


अर्नब की गिरफ्तारी पर केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावेडकर ने पुलिसिया कारवाई की निंदा की है और इसे आपातकाल की घटना की संज्ञा दी है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, ‘मुंबई में प्रेस-पत्रकारिता पर जो हमला हुआ है वह निंदनीय है। यह इमरजेंसी की तरह ही महाराष्ट्र सरकार की कार्यवाही है। हम इसकी भर्त्सना करते हैं।’ इसके अलावा उन्होंने कांग्रेस पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा, Sonia Gandhi और Rahul Gandhi के नेतृत्व में काम कर रही कांग्रेस अभी भी आपातकालीन मनस्तिथि में है। इसी का सबूत आज महाराष्ट्र में उनकी सरकार ने दिखाया है। लोग ही इसका लोकतांत्रिक जवाब देंगे।


केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी बोली- प्रेस की स्‍वतंत्रता में जो लोग आज अर्नब के समर्थन में खड़े नहीं हैं, तो अब आप टेक्निकली फासीवाद के समर्थन में हैं। आप भले ही उन्‍हें न से पसंद हों, भले ही आप उन्‍हें मान्‍यता नहीं देते हों, आप उनके अस्तित्व को कुछ न समझ सकते हों, लेकिन यदि आप चुप रहते हैं, तो आप दमन का समर्थन करते हैं। अगर आप आगे नहीं आएंगे, तो कौन बोलेगा?
BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी इस गिरफ्तारी पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘यह सोनिया और राहुल गांधी द्वारा निर्देशित उन लोगों को चुप कराने का एक और उदाहरण है जो उनसे असहमत हैं। शर्मनाक!’


वहीं, इस मामले पर बात करते हुए शिवसेना नेता Sanjay Raut ने कहा, ‘महाराष्ट्र में कानून का पालन किया जाता है। अगर किसी के खिलाफ सबूत हैं तो पुलिस कार्रवाई कर सकती है। ठाकरे सरकार के गठन के बाद से, बदला लेने के लिए किसी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई।’ बता दें कि अर्नब ने मुंबई पुलिस पर अपने और अपने परिवार के साथ मारपीट करने का आरोप भी लगाया है।


-मुंबई पुलिस द्वारा Arnab Goswami की गिरफ्तारी पर केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल बोले, इसे ‘पावर का दुरुपयोग’ कहा जाता है।


BJP सांसद तेजस्वी सूर्या ने Arnab Goswami पर हुए हमले को ‘नफरत’ की राजनीति के रूप में बताया। मुंबई में विरोध की घोषणा की।

-EAM एस जयशंकर ने Arnab Goswami का समर्थन करते हुए कहा, ‘यह प्रेस की स्वतंत्रता पर हमला है’।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *