महाराष्ट्र में चिंता बनीं कोरोना से हो रही मौतें, एक दिन में 974 लोगों की गई जान

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस से होने वाली मौत का आंकड़ा हर दिन नया रिकॉर्ड बना रहा है। रविवार को राज्य में कोरोना वायरस से 974 लोगों की जान चली गई है। राज्य में कोरोना वायरस से एक दिन में होने वाली यह अब तक की सबसे अधिक मौतें हैं। राज्य में नए मामलों में गिरावट जरूर देखने को मिली है लेकिन, पिछले दो दिनों से मौत का आंकड़ा बढ़ रहा है।

राज्य के स्वास्थ्य विभाग की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक रविवार को पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 34,389 नए मामले सामने आए। वहीं, 59,318 लोग कोरोना वायरस से ठीक भी हुए। नए केस की तुलना में रिकवरी ज्यादा होने से राज्य में एक्टिव केस में कमी देखने को मिली है।

राज्य में फिलहाल एक्टिव केसों की संख्या 4,68,109 पर आ गई है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक राज्य में मौत का आंकड़ा 81,486 पहुंच गया है। बता दें कि पूरे देश में महाराष्ट्र इकलौता ऐसा राज्य है जहां पर इतनी ज्यादा मौतें देखने को मिली हैं। राज्य में शनिवार को कोरोना वायरस से 960 लोगों की जान गई थी।

राजधानी मुंबई में कोरोना वायरस के नए मामलों में मामूली बढ़ोतरी देखने को मिली है। रविवार को पिछले 24 घंटे में शहर में 1544 नए मामले सामने आए हैं और 60 लोगों की मौत भी हुई है। शहर में रविवार को 2438 मरीजों ने कोरोना को मात देते हुए रिकवर हुए। शहर में फिलहाल कोरोना वायरस के 35,702 एक्टिव केस हैं।

वहीं, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पारिवारिक चिकित्सक के रूप में अपनी सेवा दे रहे डॉक्टरों से रविवार को COVID-19 के खिलाफ लड़ाई में राज्य का साथ देने तथा घर में पृथक-वास में रह रहे अपने मरीजों को सही उपचार परामर्श देने की अपील की। निजी प्रैक्टिस करने वाले डॉक्टरों एवं COVID -19 कार्यबल के सदस्यों के साथ डिजिटल संवाद के दौरान ठाकरे ने कहा कि मरीजों को किसी अन्य के बजाय अपने पारिवारिक चिकित्सकों पर अधिक भरोसा करना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा, ”घरों में होम आइसोलेशन में रह रहे COVID-19 मरीजों की उपचार प्रक्रिया तब प्रभावी ढंग से संभाली जा सकती है, यदि पारिवारिक डॉक्टर इस वायरस संबंधी संक्रमण के विरूद्ध लड़ाई से जुड़ जाएं।”

Leave a Comment

Your email address will not be published.