Covid 19 से ठीक होने के बाद भी एक महिने तक ना करें सेक्स- एक्सपर्ट

जीवन शैली

कोरोना वायरस संक्रमण के ठीक होने के बाद भी खतरा पूरी तरह से टला नहीं है। ऐसे में ख़ास सावधानी बरतने की जरूरत है। अध्ययन में यह बात सामने आई कि कई Corona संक्रमित मरीज जो पूरी तरह से ठीक होकर हॉस्पिटल से घर जा चुके थे उनके स्पर्म में Coronavirus मिले हैं। Coronavirus संक्रमित पुरुषों के स्पर्म में भी वायरस पाया गया है।

स्पेशलिस्ट का इस सिलसिले में कहना है कि इस स्थिति में पुरुषों को अपनी साथी के साथ संबंध बनाने से बचना चाहिए। नहीं तो उसे भी Corona संक्रमण हो सकता है। क्योंकि कुछ केसेज में यह बात सामने आई है कि ठीक होने के बाद भी कुछ पुरुषों के स्पर्म के नमूनों में Coronavirus की पुष्टि हुई है। ऐसे में सावधान रहने की जरूरत है। कुछ एक्सपर्ट्स का तो यह तक कहना है कि अगर Corona का मरीज पूरी तरह से ठीक हो चुका हो इसके बाद भी कुछ समय तक उसे अपने साथी से उचित दूरी बनाकर रखनी चाहिए।

थाईलैंड के डिसीज कंट्रोल डिपार्टमेंट के एक वरिष्ठ अधिकारी के हवाले से छापा है कि अगर Corona के इलाज के बाद आप ठीक भी हो चुके हैं तो सेक्स से परहेज करना जरूरी है। यहां तक कि साथी को किस करने से भी परहेज करें। वहीं चीन में हुए एक अध्ययन में यह वार्निंग दी गई है कि चीन में ठीक हो चुके मरीजों के स्पर्म में Coronavirus मिले हैं। ऐसे में संबंध स्थापित करना अनसेफ है।

healthline के अनुसार Coronavirus बॉडी ड्रापलेट्स के जरिए और छींक या जुकाम के ड्रापलेट्स के जरिए फैलता है। ऐसे में सावधानी बरतना उचित है कि Corona संक्रमण ठीक होने के 30 दिन तक लोगों को अपने साथी को किस (Kiss) करने से भी बचना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि कुछ मामले ऐसे सामने आए हैं जिसमें इलाज से ठीक होने के बाद भी कुछ लोग Corona पॉजिटिव पाए गए हैं। अगर इलाज के एक महीने बाद भी आप साथी से संबंध स्थापित करते हैं तो कंडोम को इस्तेमाल करना ना भूलें।

चीन ने अध्ययन के तहत, 38 Corona मरीजों के स्पर्म के सैंपल लिए। इसमें से 15 तो हॉस्पिटल में ही थे और 23 ठीक होकर घर वापस जा चुके थे। टेस्ट में 6 लोगों के स्पर्म में Coronavirus पाया गया और 2 स्वस्थ हो चुके लोगों के स्पर्म में भी Coronavirus मिले हैं।

एक रिपोर्ट छपी है जिसके मुताबिक़, जांचकर्ता शिजी झांग ने कहा कि इस बात से पूरी तरह इनकार नहीं किया जा सकता है कि अगर Corona का मरीज पूरी तरह ठीक हो चुका है तब भी उससे संक्रमण का खतरा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *