3 साल में बनेगा अयोध्या का भव्‍य राम मंदिर

NEWS Top News धर्म

राम मंदिर (Ram Mandir) निर्माण को लेकर अयोध्या में आज श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की अहम बैठक हुई। राम मंदिर का निर्माण जिस दिन से शुरू होगा, उस दिन से करीब 3 या साढ़े तीन साल का वक्त लगेगा। इसके अलावा मंदिर निर्माण के लिए समाज से धन संग्रह किया जाएगा।

राम मंदिर ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपाल ने बताया कि प्रस्तावित राम मंदिर मॉडल 128 फीट ऊंचा है, जिसे बढ़ाकर 161 फीट ऊंचा करने का फैसला लिया गया है. इसके अलावा गर्भगृह के आसपास अब 5 गुंबद बनाए जाएंगे, जबकि पहले तीन गुंबद बनने थे।

राम मंदिर ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपाल ने कहा कि राम मंदिर प्रारूप के भू-तल वाले हिस्सों के पत्थरों की तराशी पूरी हो चुकी है। राम मंदिर के भू-तल में सिंहद्वार, गर्भगृह, नृत्यद्वार, रंगमंडप बनेगा। वहीं प्रथम तल पर राम दरबार की मूर्तियों को स्थान दिया जाएगा। यही नहीं प्रस्तावित राम मंदिर के मॉडल के मुताबिक मंदिर में 24 दरवाजों का चौखट होगा, जो कि संगमरमर के पत्थरों से बनाया जाएगा। इन संगमरमर के पत्थरों पर राजस्थान के मकराना में काम चल रहा है।

उन्होंने बताया कि प्रस्तावित राम मंदिर की लंबाई 268 फीट, चौड़ाई 140 फीट और ऊंचाई-128 फीट तय की गई है। इसके अलावा मंदिर में 212 खंभे होंगे। जिसमें से पहली मंजिल में 106 खंभे और दूसरी मंजिल में 106 खंभे बनाए जाएंगे. प्रत्येक खंभे में 16 मूर्तियां होंगी और मंदिर में दो चबूतरे भी होंगे।

कामेश्वर चौपाल ने बताया कि मंदिर में 4 द्वार होंगे जो कि चारों दिशाओं में खुलेंगे. एक द्वार टेढ़ी बाजार, दूसरा द्वार क्षीरेश्वररनाथ मंदिर की तरफ, तीसरा द्वार गोकुल भवन और चौथा द्वार- दशरथ महल की तरफ से (ये मुख्य रास्ता होगा) खुलेगा, इसके अलावा भूतल पर रामलला, प्रथम तल पर राम दरबार होगा। खास बात यह है कि इसके लिए सीमेंट और मौरंग का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा।

जानकारी के मुताबिक, राम मंदिर के प्रांगण में रामकथा कुंज 45 एकड़ में बनेगा। यहां 125 मूर्तियां भगवान राम के जीवन काल की बनाई जाएंगी। जन्म काल से लेकर लंका विजय और राजगद्दी तक की मूर्तियों का लगाया जाएगा। इसके अलावा मंदिर परिसर में धर्मशाला और गौशाला भी बनाया जाएगा।

कामेश्वर चौपाल ने कहा कि PM मोदी अयोध्या आएंगे। ये कंफर्म है। 3 अगस्त या 5 अगस्त को PM मोदी के हाथों ही मंदिर निर्माण का शिलान्‍यास किया जाएगा। PM को निवेदन कर दिया गया है। तिथियों का सुझाव दे दिया गया है, आखिरी निर्णय PMO करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *