नवंबर के बाद भारत में सबसे ज्यादा केस, जोधपुर में महीने भर के लिए कर्फ्यू

राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot) ने जोधपुर में कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते मामलों को देखते हुए 21 मार्च तक धारा 144 लगा दी है। शादियों और सार्वजनिक कार्यक्रमों के लिए 100 लोगों की संख्या तय कर दी गई है। केवल आवश्यक जरूरत के सामान की दुकानें, स्कूल और कॉलेज खुले रहेंगे। जोधपुर पुलिस की ओर से जारी बयान में ये जानकारी दी गई है। उधर, मध्य प्रदेश ने पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए पड़ोस के जिलों से आने वाले लोगों की थर्मल स्कैनिंग करने का फैसला लिया है। इसके साथ ही मध्य प्रदेश सरकार ने भोपाल, इंदौर, होशंगाबाद, बेतुल, सिवनी, छिंदवाड़ा, बालाघाट, बरवानी, खंडवा, खरगोन, बुरहानपुर, अलीराजपुर और महाराष्ट्र से सटे जिलों के कलेक्टरों से आपदा प्रबंधन कमिटी की मीटिंग बुलाकर कोरोना वायरस संक्रमण के बारे में तैयारी करने और सतर्कता बरतने को कहा है।

महाराष्ट्र की बात करें तो बुलढाणा के ADM दिनेश गीते के मुताबिक बुलढाणा शहर, चिखाली, खमगांव, देउलगांव राजा और मलकापुर क्षेत्र में प्रतिबंध लगाए गए हैं। पिछले कुछ दिनों से इन इलाकों में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। दिनेश गीते ने कहा कि सुबह 8 बजे से शाम के 3 बजे तक केवल आवश्यक जरूरत के सामानों की दुकानें ही खुलेंगी और गाइडलाइंस का पालन ना करने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी। लोगों को घर में आइसोलेशन की अनुमति भी नहीं रहेगी। महाराष्ट्र में बढ़ते मामलों को देखते हुए गुजरात सरकार ने महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश से सटे जिलों से आने वाले लोगों की कोरोना वायरस के मामलों की पड़ताल के लिए स्क्रीनिंग करने का फैसला लिया है। इसके लिए राज्य की सीमाओं पर चेक पोस्ट बनाए जाएंगे।

उधर, केरल के CM पिनरायी विजयन ने सोमवार को कहा कि कर्नाटक सरकार ने केरल से आने वाले लोगों के लिए RT-PCR टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य कर दी है। हालांकि कर्नाटक के DGP ने आश्वासन दिया है कि आवश्यक सामान लेकर जाने वाले वाहनों को छूट मिलेगी। उन्होंने कहा कि राज्य की सीमाओं पर कर्नाटक जाने वाले ज्यादातर रास्ते बंद हैं और इस बारे में केंद्र सरकार को जानकारी दी जाएगी।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि सोमवार की शाम तक देश में 1 करोड़ 14 लाख से ज्यादा लोगों का टीकाकरण हुआ है। इनमें 75 लाख से ज्यादा स्वास्थ्य कर्मी हैं और इनमें से 64 लाख 25 हजार स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन का पहला डोज मिला है। 11 लाख से ज्यादा स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन का दूसरा डोज भी लग गया है। इसी तरह 38 लाख 83 हजार से ज्यादा फ्रंटलाइन कर्मचारियों को वैक्सीन का पहला डोज दिया गया है।

मंत्रालय के मुताबिक पिछले 24 घंटों में देश में कोरोना वायरस के 14,199 नए मामले दर्ज किए गए हैं। वहीं, देश में 1 लाख 50 हजार से ज्यादा एक्टिव केस हैं, जबकि वायरस संक्रमण के चलते अब तक 1 लाख 56 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। कोरोना वायरस संक्रमण के लिए इलाज पाकर ठीक हुए लोगों की संख्या 1 करोड़ 6 लाख 99 हजार को पार कर गई है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.