बॉलीवुड की टाइमलेस ब्यूटी रेखा

गैलरी फोटोज बॉलीवुड मनोरंजन सिनेमा

बॉलीवुड की टाइमलेस ब्यूटी रेखा

दिल चीज क्या है आप मेरी जान…

इन आंखो की मस्ती के…

इन सुपरहिट गानों के बिना बॉलीवुड अधूरा है, और रेखा की इन खूबसूरत आंखो का सारा जमाना फैन है, और सिर्फ आंखे ही नहीं उनकी एक्टिंग, स्टाईल, फैशन सेंस सभी कुछ फैंस को पसंद आता है, तभी तो 64 की उम्र में भी रेखा की फैन फॉलोइंग गजब की है। भानुरेखा गणेशन उर्फ़ रेखा, हिन्दी सिने जगत में करीब 5 दशक का करियर, आज रेखा किसी पहचान की मोहताज नहीं। बतौर बाल कलाकार तेलुगु फिल्म से एक्टिंग की शुरुआत करने वाली रेखा ने बॉलीवुड में फिल्म ‘सावन भादों’ (1970) से कदम रखा, तब रेखा सिर्फ 16 साल की थी।

सावन भादों’ से ‘सुपर नानी’ तक का सफर

रेखा का फिल्मी दुनिया का सफर उतार-चढ़ाव वाला रहा, उनके हिस्से  भी हिट्स और फ्लॉप दोनों आए, अब तक करीब 180 फिल्मों में काम कर चुकी रेखा अपने फिल्म जगत के सफर में हर तरह के किरदार निभा चुकी हैं, फिर चाहे वो मुख्य किरदार हो या सहायक किरदार, और सभी में उनको सराहा भी खूब गया।

1978 में आई फिल्म ‘घर’ रेखा के करियर का टर्निंग प्वाइंट रही। यह फिल्म उनके करियर का माइलस्टोन बनी और फिल्म में उनके अभिनय को आलोचकों और जनता दोनों ने काफी सराहा। इस फिल्म के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के तौर पर पहली बार फिल्मफेयर अवॉर्ड में नामिनेशन मिला।साल 1980 में रिलीज फिल्म ‘खूबसूरत’ रेखा की एक और सुपरहिट फिल्म रही। ऋषिकेश मुखर्जी के डॉरेक्शन में बनी खूबसूरत में अपनी दमदार एक्टिंग के लिए रेखा को उनके कैरियर का पहला फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला।

अब बात उमराव जान की, वो फिल्म जो रेखा के एक्टिंग केरियर का माइलस्टोन बनी, इस किरदार को रेखा ने इतनी संजीदगी से निभाया कि सिने दर्शक आज तक उसे भूल नहीं पाए। ‘उमराव जान’ फिल्म के सदाबहार गीत आज भी लोगों की जुबान पर रहते हैं। उमराव जान ने ही रेखा को उनके केरियर का पहला नेशनल बेस्ट एकट्रेस का अवॉर्ड दिलाया, और इस फिल्म के बाद रेखा की गिनती भी  बॉलीवुड की संजीदा एक्ट्रेसेस में होने लगी।

1988 में रेखा के फिल्मी कैरियर की एक और सुपरहिट फिल्म आई ‘खून भरी मांग’, अपने दमदार अभिनय के लिये रेखा को एक बार फिर फिल्मफेयर बेस्ट एक्ट्रेस अवॉर्ड से नवाजा गया। खून भरी मांग की कहानी जबरदस्त थी और फिल्म में रेखा के कैरेक्टर का ट्रांसफॉर्मेशन भी गजब का था।

अमिताभ संग रेखा की प्रेम कहानी

बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन और ब्यूटी क्वीन रेखा की लव स्टोरी के बारे में तो सभी जानते हैं। एक दौर ऐसा भी था जब इन दोनों की प्रेम कहानी हर किसी के जुबां पर हुआ करती थी। बॉलीवुड की सबसे चर्चित प्रेम कहानियों में से एक रही है रेखा और अमिताभ की कहानी।

 रेखा और अमितभ बच्चन की मुलाकात पहली बार फिल्म ‘दो अंजाने’ (1976) के सेट पर हुई थी। ये फिल्म सुपहिट रही और रेखा-अमिताभ की जोड़ी को सबने नोटिस किया, इस फिल्म की शूटिंग के दौरान ही दोनों की प्रेम कहानी की शुरूआत हुई। कहते हैं कि रेखा अमिताभ की लव स्टोरी जमाने के सामने तब आई जब फिल्म ‘गंगा की सौगंध’ के दौरान फिल्म के एक को -एक्टर ने रेखा से बदतमीजी की इसपर अमिताभ ने अपना आपा खो दिया, इस घटना के बाद मीडिया में खबरे यहां तक आने लगी की दोनों ने चोरी-छिपे शादी कर ली है। इन अटकलों को तब और हवा मिली जब ऋिषि और नीतू कपूर की शादी में रेखा सिंदूर लगाए और मंगलसूत्र पहन कर पहुंच गई थीं। उस रात की तस्वीरें मैजगीन में भी छपी थीं। जहां अफेयर की खबरें चारो ओर फैल रही थीं वहीं दोनों ने कभी भी खुल कर इस रिश्ते पर बात नहीं की।

डॉरेक्टर यश चोपड़ा की फिल्म सिलसिला ने भी खूब सुर्खियां बटोरी, कहा जाता है कि ये फिल्म रेखा-अमिताभ-जया की रियल लाइफ से इंस्पायर्ड थी, और इसमें रेखा और जया को एक साथ साइन करने के लिए यश चोपड़ा को काफी मेहनत करनी पड़ी थी।

रेखा-अमिताभ ने लगभग 19 फिल्मों में साथ काम किया जिसमें, ‘दो अनजाने’, ‘गंगा की सौगंध’, ‘मुकद्दर का सिकंदर’,  ‘सिलसिला’, ‘खून पसीना’, ‘मि. नटवरलाल’, ‘राम-बलराम’, ‘सुहाग’, ‘आलाप’ मुख्य हैं।

आज भी कई अवॉर्ड फंक्शन पर रेखा और अमिताभ टकरा जाते हैं, मगर तब ये एक दूसरे से नजरें चुराते हुए अपना रास्ते अलग कर लेते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *