Presidential Election 2022, Draupadi Murmu

Presidential Election 2022: द्रौपदी मुर्मू होंगी एनडीए की राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार

BJP Presidential Candidate 2022: भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने राष्ट्रपति चुनाव (President Election) के लिए उम्मीदवार की घोषणा कर दी है। पार्टी ने द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) को उम्मीदवार बनाया है। इससे पहले राष्ट्रपति उम्मीदवार के नाम पर मंथन के लिए पार्टी मुख्यालय में बीजेपी (BJP) की संसदीय बोर्ड (BJP’s Parliamentary Board) की बैठक हुई।

इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, (PM Modi) बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा, (BJP JP Nadda) केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित संसदीय बोर्ड के अन्य सदस्य बैठक में मौजूद रहे।

बैठक के बाद बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा (BJP JP Nadda)
ने कहा कि आज की संसदीय बोर्ड की बैठक में हम सभी लोग इस मत पर आए कि बीजेपी (BJP) और NDA अपने सभी घटक दलों के साथ बातचीत करते हुए हम राष्ट्रपति के लिए अपना प्रत्यासी घोषित करें। NDA की तरफ से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) को घोषित किया गया है।

उन्होंने कहा कि बैठक में लगभग 20 नाम पर चर्चा हुई। हमलोगों ने विपक्षी दलों से भी रायशुमारी की कोशिश की, लेकिन बात नहीं बनी। यूपीए (UPA) ने प्रत्याशी घोषित कर दिया है।

कौन हैं द्रौपदी मुर्मू?

आदिवासी समाज से ताल्लुक रखने वालीं द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) 6 साल एक महीने तक झारखंड की राज्यपाल रही हैं। मुर्मू ओडिशा के रायरंगपुर की रहने वाली हैं। मुर्मू का कल ही जन्मदिन था। वो 64 साल की हैं।

राष्ट्रपति चुनाव के लिए विपक्षी दलों की ओर से संयुक्त उम्मीदवार के रूप में पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा को मैदान में उतारा गया है। मौजूदा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल 24 जुलाई को समाप्त हो रहा है। विपक्षी उम्मीदवार के रूप में सिन्हा के नाम की घोषणा के बाद अगले राष्ट्रपति के निर्वाचन के लिए 18 जुलाई को मतदान होना अब तय माना जा रहा है। राष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन पत्र भरने की प्रक्रिया जारी है। 29 जून नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि है।

गौरतलब है कि राष्ट्रपति चुनाव (President Election) में संख्या बल के आधार पर बीजेपी (BJP) नीत एनडीए (NDA)मजबूत स्थिति में है और उसे यदि बीजेडी या आंध्र प्रदेश में सत्तारूढ़ वाईएसआर कांग्रेस जैसे दलों का समर्थन मिल जाता है तो उसकी जीत निश्चित हो जाएगी।