राहुल गांधी का मोदी सरकार पर हमला,सीमा में आकर बीस सैनिकों की हत्या को उचित ठहराने की इजाजत चीन को क्यों दी गई?

सोमवार की शाम भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और China के विदेश मंत्री वांग यी के बीच हुई चर्चा के अगले ही दिन Congress के पूर्व अध्यक्ष Rahul gandhi ने नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने सरकार से पूछा है कि आखिर क्यों China को भारत की सीमा में 20 भारतीय जवानों की हत्या को उचित ठहराने की इजाजत दी गई?

Rahul gandhi ने ट्वीट कर कहा, “राष्ट्रीय हित सर्वोपरि है। भारत सरकार का कर्तव्य इसकी रक्षा करना है। फिर, 1. यथा पूर्व स्थिति बनाए रखने पर जोर क्यों नहीं दिया गया? चीन को हमारे क्षेत्र में 20 निहत्थे जवानों की हत्या को सही ठहराने की अनुमति दी गई? 3 – गलवान घाटी की क्षेत्रीय संप्रभुता का कोई उल्लेख क्यों नहीं किया गया?”


Rahul gandhi का यह बयान भारत-चीन के बीच एलएसी पर पीछ हटने के लिए बनी सहमति के बाद आया है। कल अजीत डोभाल और चीनी विदेश मंत्री के बीच काफी देर तक इस मामले पर चर्चा हुई। इसके बाद चीनी सैनिक धीरे-धीर पीछे हटने लगे हैं।

इससे पहले BJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ट्वीट कर Congress के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष Rahul gandhi के बयान पर पलटवार किया था। उन्होंने कहा कि था कि रक्षा संबंधी संसद की स्थाई समिति की बैठक में कभी नहीं गए और रक्षा मामलों और सेना पर हर रोज सवाल उठाते हैं।

Rahul gandhi कि चीनी घुसपैठ के मुद्दे पर लगातार केंद्र सरकार पर हमला बोल रहे हैं। शनिवार को उन्होंने कहा कि देशभक्त लद्दाखवासी चीनी घुसपैठ के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं और सरकार को उनकी सुननी चाहिए क्योंकि यदि उनकी बात को नजरअंदाज किया गया तो देश को इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ेगी।