J-K: BJP नेता वसीम बारी की आतंकियों ने की हत्या, जेपी नड्डा ने कहा-‘बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा’

Top News क्राइम जम्मू कश्मीर देश राज्य

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में जहां बीते 8 जून को आतंकियों ने कश्मीरी पंडित सरपंच अजय पंडिता की गोली मारकर हत्या कर दी थी, वहीं अब खबर है कि जम्मू और कश्मीर के बांदीपोरा में आतंकियों ने बीजेपी नेता वसीम बारी की हत्या कर दी है। आतंकियों के हमले में वसीम के भाई और पिता को भी गोली लगी थी, बाद में दोनों की भी मौत हो गई। बीजेपी नेता वसीम बारी की हत्या पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दुख जताया है। तो वहीं बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि जम्मू कश्मीर में हुए आतंकी हमले में पार्टी नेता वसीम बारी और उनके परिवार के सदस्यों की मौत पार्टी के लिए “बड़ा नुकसान” है। जेपी नड्डा ने इस मामले पर ट्वीट करते हुए आगे कहा कि ”हमनें शेख वसीम बारी, उनके पिता और भाई को जम्मू कश्मीर के बांदीपोरा में हुए एक कायराना हमले में खो दिया। ये पार्टी के लिए बड़ा नुकसान है। परिवार के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं है। पूरी पार्टी दुख की इस घड़ी में पीड़ित परिवार के साथ है। मैं आश्वस्त करता हूं कि उनका बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा।” इसके साथ ही बीजेपी नेता राम माधव ने वसीम बारी और उनके परिजनों की हत्या मामले में कहा कि वसीम बारी को सुरक्षा मुहैया कराई गई थी इसके बावजूद उनकी और उनके परिवार वालों की हत्या आश्चर्य की बात है।

बीजेपी नेता वसीम बारी की हत्या पर बीजेपी नेताओं के अलावा नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने भी निंदा की है और दुख जाहिर किया है। उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, ‘आज शाम को बांदीपोरा में बीजेपी के पदाधिकारियों और उनके पिता पर जानलेवा आतंकी हमले के बारे में सुनकर बहुत दुख हुआ। मैं इस हमले की कड़ी निंदा करता हूं। इस मुश्किल समय में मेरी संवेदना उनके परिवार के साथ हैं।’

आपको बता दें इस हत्याकांड पर जम्मू कश्मीर के DGP दिलबाग सिंह  ने कहा कि बांदीपुरा जिले में बुधवार रात को आतंकवादियों ने एक भाजपा नेता, उनके पिता और भाई की गोली मारकर हत्या कर दी। आतंकियों ने बीजेपी के जिलाध्यक्ष वसीम अहमद वारी की दुकान के बाहर रात करीब नौ बजे गोली मारी जिससे उनकी मौत हो गयी। DGP दिलबाग सिंह ने आगे कहा कि बारी के भाई उमर और पिता बशीर अहमद गोली लगने से घायल हो गये थे। उन्हें बांदीपुरा जिला अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी भी मौत हो गयी। इस मामले में जम्मू कश्मीर पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए लापरवाही बरतने के आरोप में 7 पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *