पश्चिमी विक्षोभ से बढ़ेगी मुश्किलें, इन इलाकों में भारी बारिश का यलो अलर्ट

देश पर्यावरण मौसम

पश्चिमी विक्षोभ के कारण मौसम में उतार-चढ़ाव के बीच दिल्‍ली समेत उत्‍तर भारत के अधिकांश इलाकों में गर्मी जोर पकड़ने लगी है। राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में शुक्रवार को अधिकतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस पार कर गया। हालांकि गुरुवार रात कई जगह हल्की बरसात हुई और शनिवार को भी बारिश की संभावना है। हालांकि इस बारिश से तापमान में गिरावट आने के कोई आसार नहीं हैं। मौसम विभाग ने हिमाचल प्रदेश में शनिवार और सोमवार को आंधी व गरज चमक के साथ भारी बार‍िश और बर्फबारी की चेतावनी जारी की है।

हिमाचल प्रदेश में अगले 26 मार्च तक बारिश और बर्फबारी का दौर जारी रहेगा। शिमला स्थित मौसम विभाग के कार्यलय के मुताबिक, 21 और 23 मार्च को भारी बारिश और बर्फबारी का यलो अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग ने कहा है कि पहाड़ों पर बर्फबारी होगी जबकि मैदानी इलाकों में आंधी और गरज चमक के साथ बारिश होगी। मौसम का पूर्वानुमान बताने वाली निजी एजेंसी स्‍काइमेट वेदर के मुताबिक, जम्मू कश्मीर में भी बारिश देखी जा सकती है।

स्‍काइमेट वेदर की मानें तो अगले 24 घंटों के दौरान ओड़ीशा में कई जगहों पर हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक-दो स्थानों पर भारी बारिश होने की संभावना है। वहीं गंगीय पश्चिम बंगाल, झारखंड, छत्तीसगढ़ और पूर्वी मध्य प्रदेश में भी कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। जम्मू कश्मीर में भी कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है जबकि ऊंचे इलाकों में हल्की बर्फबारी की भी संभावना है। पंजाब और हरियाणा में भी कुछ जगहों पर गरज चमक के साथ हल्की बारिश हो सकती है। पूर्वी असम, अरुणाचल और उत्तरी तटीय आंध्र प्रदेश में कुछ स्थानों पर वर्षा के आसार हैं।

दिल्‍ली में शुक्रवार को अधिकतम पारा सामान्य से एक डिग्री अधिक 31.4 डिग्री सेल्सियस, जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य स्तर पर 16.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग के मुताबिक, पश्चिमी विक्षोभ के असर से शनिवार को आंशिक तौर पर बादल छाए रहेंगे। गर्जन वाले बादल बनने और हल्की बारिश होने की भी संभावना है। शाम और रात के समय 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से धूल भरी हवा भी चल सकती है। लेकिन इस सबके बावजूद अधिकतम पारा 31 और न्यूनतम पारा 17 डिग्री सेल्सियस रहने के आसार हैं।

स्काईमेट वेदर के मुख्य मौसम विज्ञानी महेश पलावत ने बताया कि अभी अगले दो-तीन दिन अधिकतम पारा 31 से 32, जबकि न्यूनतम पारा 17 से 18 डिग्री सेल्सियस तक रहेगा। इसके बाद 24 और 25 मार्च को एक मजबूत पश्चिमी विक्षोभ के चलते फिर से दिल्ली में तेज हवा के साथ बारिश होगी। इस दौरान पारे में आंशिक कमी आ सकती है। इसके बाद तापमान में लगातार इजाफा होगा और माह के अंत तक यह 33 से 34 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाएगा।

दिल्ली-NCR में प्रदूषण का स्तर शुक्रवार को भी नियंत्रण में ही रहा। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) द्वारा जारी एयर बुलेटिन के अनुसार शुक्रवार को दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स 192 दर्ज किया गया। एनसीआर के शहरों में फरीदाबाद का 212, गाजियाबाद का 235, ग्रेटर नोएडा का 238, गुरुग्राम का 175 और नोएडा का 195 दर्ज किया गया। दिल्ली, गुरुग्राम और नोएडा की हवा सामान्य, जबकि फरीदाबाद, गाजियाबाद और ग्रेटर नोएडा की हवा खराब श्रेणी में दर्ज की गई। संभावना है कि बारिश और हवा से शनिवार को प्रदूषण के स्तर में गिरावट दर्ज होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *