बिहार: पूर्व मध्य रेलवे की नई पहल, अब ठंड में नहीं होगी ट्रेन लेट

उत्तर भारत में ठंड बढ़ते ही कोहरे के कहर से लोगों का सफर मुश्किल भरा हो जाता है। आए दिन ठंड के दिनों में ट्रेन अपने तय समय से 8 से 10 घंटे लेट से चलती है और कई बार तो ट्रेनों को रद्द भी करना पड़ता है। जिसके कारण यात्रियों को खासी परेशानी होती है। लेकिन इस साल यात्रियों की इस परेशानी को कम करने के लिए रेलवे ने पहले से ही इंतजाम किए हैं। आपको बता दें भारतीय रेल इस बार कोहरे के दौरान ट्रेनों को लेट होने से बचाने के लिए इसरो के सैटेलाइट की मदद लेगा। पूर्व मध्य रेलवे के अधिकारी ने बताया कि भारतीय रेल ने इसरो की मदद से रियल टाईम फ्रेम इंफॉरमेशन सिस्टम से सभी ट्रेनों की मॉनिटरिंग शुरू कर दी है। इससे ना सिर्फ रेलवे, बल्कि यात्री और उनके परिजन भी जान सकेंगे कि उनकी ट्रेन कहां है। साथ ही ये ट्रेन कब अपने गंतव्य पर पहुंचेगी।

पूर्व मध्य रेलवे के सीपीआरओ अधिकारियों की माने तो रेलवे ने इस बार कोहरे की वजह से होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने के लिए इंजन चालकों को फॉग सेफ्टी डिवाइस से लैस करना शुरू कर दिया है। ये डिवाइस घने कोहरे में भी ट्रेन के रास्ते में आने वाले सिग्नल और गेट की स्थिति की सूचना देगा।