पूर्व केंद्रीय गृहराज्‍य मंत्री बोले,कश्मीर किसी के बाप का नहीं जो छीन ले

पूर्व केंद्रीय गृहराज्य मंत्री सुबोधकांत सहाय का कहना है कि कश्मीर किसी के बाप का नहीं जो भारत छीन ले। कांग्रेस ने कभी भी धारा 370 हटाने का विरोध नहीं किया। केवल इसके तरीके पर कांग्रेस ने अपना विरोध जताया है, जो आगे भी बना रहेगा।

वृंदावन में ठा. बांकेबिहारी मंदिर के रविवार को दर्शन करने आए सहाय ने कहा जिस तरह से जम्मू-कश्मीर में लोगों की जुबान बंद करके सरकार अपनी सफलता का ढिढोरा पीट रही है, वह तरीका गलत है। कहा कि मोदी सरकार आरएसएस के एजेंडा को लागू कर रही है। कहा कि सरकार साफ करे कि आपको कश्मीरी चाहिए या फिर केवल कश्मीर का बार्डर चाहिए। हम नया नया राज्य बनाने का प्रयास कर रहे थे। लेकिन मोदी सरकार ने इस प्रदेश को तीन भाग में बांट दिया। कहा कांग्रेस धारा 370 हटाने का कोई विरोध नहीं कर रही है।

झारखंड में विधानसभा चुनाव की रणनीति पर बताया कि वे झारखंड मुक्ति मोर्चा, बाबूलाल मरांडी, सिबू सोरेन और लालू यादव की राजद व कांग्रेस महागठबंधन बनाकर वामपंथ के साथ विधानसभा चुनाव लडऩे जा रहे हैं। जो कि झारखंड में बड़ी जीत दर्ज करने जा रहा है। पिछले चुनावों में महागठबंधन की करारी हार के सवाल पर कहा कि जिस तरह से लोकसभा चुनाव के दौरान देशभर में दो सौ सीटों पर ईवीएम में गड़बड़ी कर भाजपा ने जीत दर्ज की, उससे उनके खुद के उम्मीदवार चौंक गए कि वे इतनी बड़ी जीत कैसे जीत गए। कहा अमेरिका में ट्रंप के चुनाव की पोल भी खुल रही है, ऐसे ही भारत में समय आने पर ईवीएम की गड़बड़ी उजागर होगी और नतीजे देश के सामने होंगे। इससे पूर्व कांग्रेस नेता सुबोधकांत सहाय ने सेवायत गोपी गोस्वामी के आचार्यत्व में ठा. बांकेबिहारीजी के दर्शन कर पूजा-अर्चना की। पूर्व विधायक प्रदीप माथुर, जिलाध्यक्ष सोहन सिंह सिसौदिया, श्याम दुबे समेत अनेक लोग मौजूद रहे।