WHO का बड़ा खुलासा- गर्म मौसम में भी कम नहीं होगा CORONA का प्रकोप

गैलरी फोटोज विदेश हेल्थ

CORONA VIRUS के साथ ही इसे लेकर अफवाहों और कयासों के दौर ने भी तेजी पकड़ ली है। हालांकि इनमें से ज्यादातर गलत हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) लगातार लोगों को भ्रम दूर करने के लिए जागरूक कर रहा है। CORONA VIRUS को लेकर एक और दावा किया जा रहा है कि जैसे-जैसे गर्मी बढ़ेगी इसका प्रकोप कम हो जाएगा। WHO ने इसे लेकर बड़ा खुलासा किया है। साथ ही पूरी दुनिया को इससे गंभीरता से लड़ने की सलाह दी है। उधर देश के केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से भी गुरुवार को WHO के खुलासे का समर्थन किया गया है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने खुलासा किया है कि अब तक मौजूद परिस्थितियों का आंकलन करने से ये दावा सही नहीं लगता है। CORONA VIRUS किसी भी जगह पर फैल सकता है, चाहे वहां का मौसम गर्म हो या उमस भरा। अभी ऐसा न तो कोई अध्ययन है और न ही कोई तथ्य है, जिसके आधार पर ये अनुमान लगाया जा सके कि गर्म मौसम या उमस भरे मौसम में ये वायरस स्वतः खत्म हो जाएगा। मतलब सोशल मीडिया पर किए जा रहे इस तरह के दावों का कोई वैज्ञानिक आधार फिलहाल मौजूद नहीं है।

गर्म या उमस भरे मौसम में भी कोरोना वायरस के स्वतः खत्म न होने के पीछे WHO का आधार क्या है? इसका जवाब विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कुछ दिन पहले जारी किए गए एक सुझाव में छिपा है। ये सुझाव CORONA VIRUS से बचने के लिए गर्म पानी से नहाने को लेकर दिया गया था। इसमें WHO ने स्पष्ट तौर पर बताया था कि गर्म पानी से नहाकर CORONA VIRUS से नहीं बचा जा सकता है। इसके पीछे कारण बताया गया था कि सामान्य इंसान के शरीर का तापमान 36.5 डिग्री सेल्सियस से 37 डिग्री सेल्सियस तक होता है। जब इतनी गर्मी में वायरस शरीर में फैल सकता है तो गर्म पानी से नहाकर इससे बचने या गर्म मौसम में इसके स्वतः खत्म होने का दावा करना गलत है। उल्टा ज्यादा गर्म पानी से नहाने से त्वचा जल सकती है। गर्म मौसम में वायरस के खत्म होने वाले दावे का फैक्ट चेक करने के साथ ही WHO ने उन लोगों के लिए भी अलर्ट जारी किया है जो गर्म अथवा उमस भरे क्षेत्र में रह रहे हैं या उन क्षेत्रों में यात्रा पर जाने वाले हैं। WHO ने इन लोगों को अन्य क्षेत्र के लोगों की तरह कोरोना वायरस से बचने के लिए जरूरी एहतियात बरतने की अपील की है।

WHO के मुताबिक CORONA VIRUS से बचने का सबसे अच्छा तरीका है कि अपने हाथ को थोड़ी-थोड़ी देर पर साबुन-पानी से कम से कम 20 मिनट तक धोएं। इसके अलावा हाथों को वायरस मुक्त रखने के लिए एल्कोहल युक्त हैंड सैनेटाइजर का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। जितना संभव हो सके आंख, नाक व मुंह बिना हाथ साफ किए न छुएं। भीड़भाड़ वाली जगह पर जाने से बचें। ऐसे मरीज के संपर्क में आने से बचें, जिसे खांसी या छींक आ रही हो। वायरस को फैलने से रोकने के लिए उन लोगों को मास्क पहनने की सलाह दी जा रही है, जिन्हें खांसी, छींक आ रही हो या बुखार हो या सांस की समस्या हो। WHO के मुताबिक संक्रमण से बचने के लिए कम से कम एक मीटर की दूरी बनाकर रखना अनिवार्य है।

कोविड-19 (Covid-19) वायरस गुरुवार (12-मार्च-2020) की दोपहर तक दुनिया के 122 देशों में उपस्थिति दर्ज करा चुका है। दुनिया भर एक लाख 26 हजार से ज्यादा लोगों में CORONA VIRUS से संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। वहीं 4600 से ज्यादा लोगों की अब तक दुनिया भर में इस खतरनाक वायरस से मौत हो चुकी है। भारत में भी CORONA VIRUS से संक्रमण के 73 मामले अब तक सामने आ चुके हैं। भारत के लिए सबसे बड़ी राहत की बात ये है कि यहां किसी भी मरीज की संक्रमण से मौत नहीं हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *