जब न बन सके फाइटर पायलट तो बने मिसाइल मैन

गैलरी देश फोटोज शिक्षा

आज भारत के पूर्व राष्ट्रपति, जानेमाने वैज्ञानिक और अभियंता ए. पीजे अब्दुल कलाम का जन्म दिन है। आज ही के दिन ,15 अक्टूबर 1931को , भारत के रामेश्वरम, रमानाथपुरम जिला,(मौजूदा तमिलनाडु) में इनका जन्म हुआ । इनका पूरा नाम अवुल पकिर जैनुल्लाब्दीन अब्दुल कलाम था ।
यह भारत के सबसे लोकप्रिय राष्ट्रपति थे। बहुप्रतिभाशाली कलाम साहब वैज्ञानिक और
एयरोस्पेस इंजीनियर होने के साथ साथ एक प्रोफेसर और लेखक भी थे।

यह वो वक्‍त था जब कलाम के अंदर हवा में उड़ने का सपना जगा था और उन्‍होंने फाइटर पायलट बनने का फैसला किया था। लेकिन इसमें उनका 9वां रैंक आया था जबकि 8वें रैंक तक के ही लोगों का ही इसके लिए लिया गया था। ये वो पल था जब कलाम को इससे निराशा जरूर हुई लेकिन उन्‍होंने इस निराशा को अपने ऊपर हावी नहीं होने दिया और वैज्ञानिक बनने की ठान ली। यहां पर वो लगातार सीढ़ी दर सीढ़ी सफलता पाते गए।

मिसाइल मैन का जिक्र आते ही बस एक नाम जहन में आता है वो है पूर्व राष्‍ट्रपति एपीजे अब्‍दुल कलाम का। भारत के मिसाइल प्रोग्राम को ऊंचाईयों तक पहुंचाने में उनका योगदान अतुलनीय है। विज्ञान और वैज्ञानिकों के प्रति उनका लगाव ही था कि राष्‍ट्रपति रहते हुए भी वैज्ञानिक उनसे इस बाबत सलाह भी लेते थे और वो इसमें दिलचस्‍पी भी लिया करते थे। जब केरल थुंबा से भारत ने पहला रॉकेट अंतरिक्ष में भेजा था उस वक्‍त कलाम भी उस प्रोजेक्‍ट का हिस्‍सा थे। विक्रम साराभाई न सिर्फ उनके बॉस थे बल्कि उनके गुरु भी थे। उनकी बराबरी करना किसी के लिए भी आसान नहीं है। कलाम अपने काम के अलावा अपने बालों के स्‍टाइल को लेकर भी पूरी दुनिया में पहचाने जाते थे। देश-विदेश में ‘मिसाइल मैन ‘ के नाम से मसहूर कलाम जी ने ही भारत को पहला बैलेस्टिक मिसाइल दिया और प्रक्षेपण यान प्रौद्योगिकी के विकास के लिए काम किया।

एक सच्चे भारतीय और कर्मवीर योद्धा की तरह कलाम साहब ने पूरी ज़न्दगी भारत को समर्पित करदी। यहां तक की मरने से कुछ वक़्त पहले भी वो आईआईएम शिलॉन्ग में लेक्चर दे रहे थे और तभी उन्हें दिल का दौरा पड़ा और उनकी 20-01-1961 मृत्यु हो गयी।

भारत रत्न से सम्मानित और सादगी की मिसाल डॉक्टर कलाम आज भी युवाओं के प्रेरणा स्रोत हैं। तभी तो इनके जन्मदिवस को ‘ विश्व विद्यार्थी दिवस’ के रूप में घोषित करने की मांग की जा रही है।

आये नज़र डालते हैं , कलाम साहब की कही हुई कुछ रोचक बातों पर-

  1. “जीवन में सुख का अनुभव तभी प्राप्त होता है जब इन सुखों को कठिनाईओं से प्राप्त किया जाता है…”
  2. “सपने तभी सच होते हैं, जब हम सपने देखना शुरू करते हैं…”
  3. “अगर हम अपने सफलता के रास्ते पर निराशा हाथ लगती है इसका मतलब यह नहीं है कि हम कोशिश करना छोड़ दें, हर निराशा और असफलता के पीछे ही सफलता छिपी होती है.”
  4. “सपने वो नहीं होते जो आप सोने के बाद देखते हैं, सपने वो होते हैं जो आपको सोने नहीं देते…”
  5. “शिखर तक पहुंचने के लिए ताकत चाहिए होती है, चाहे वह माउंट एवरेस्ट का शिखर हो या कोई दूसरा लक्ष्य…”
  6. “देश का सबसे अच्छा दिमाग क्लासरूम के आखिरी बेंचों पर मिल सकता है…”
  7. “छात्रों को प्रश्न जरूर पूछना चाहिए। यह छात्र का सर्वोत्तम गुण है…”
  8. “अगर एक देश को भ्रष्टाचार मुक्त होना है तो मैं यह महसूस करता हूं कि हमारे समाज में 3 ऐसे लोग हैं, जो ऐसा कर सकते हैं. ये हैं माता,पिता और शिक्षक..”

देश के इस महान नायक को शत शत नमन।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *